What is agneepath scheme? जानिए हर सवाल का जवाब

What is agneepath scheme? जानिए हर सवाल का जवाब

What is agneepath scheme, Agnipath Scheme Detail in Hindi: केंद्रीय मंत्रिमंडल ने यूथ के लिए ​अग्निपथ योजना को मंजूरी दी है। जिससे जरिए वह सशस्त्र बलों में सेवा के लिए भर्ती हो सकते हैं। इस योजना के लिए चयनित युवाओं को अग्निवीर नाम दिया गया है। यह योजना युवाओं को चार साल के लिए भारतीय सेना में सेवा का मौका देती है। ऐसा मानना है कि योजना के जरिए सशस्त्र बलों में युवा सैनिकों व अनुभवी सैनिकों के बीच संतुलन तय करके तकनीकी रूप से लड़ने वाले युवा सैन्य बल को बढावा मिलेगा। अग्निवीरों को तीनों सशस्त्र सेवाओं में एक मासिक पैकेज मिलेगा। चार साल बाद एकमुश्त ‘सेवा निधि’ पैकेज का भुगतान होगा।

 

25 फीसदी सशस्त्र बलों में होंगे नियमित (What is agneepath scheme)

 

अग्निवीरों को चार साल तक के लिए सशस्त्र बलों में नामांकित किया जाएगा। सशस्त्र बलों में अग्निवीर एक अलग रैंक पाएंगे। यह रैंक मौजूदा रैंक से अलग होगी। चार साल बाद अग्निवीरों को स्थायी नामांकन के लिए आवेदन का मौका मिलेगा। उन आवेदनों पर उनके प्रदर्शन सहित अन्य मानदंडों के आधार पर विचार होगा और फिर अग्निवीरों के बैच के 25 फीसदी को सशस्त्र बलों में नियमित किया जाएगा।

 

कक्षा 10 पास होना अनिवार्य (What is agneepath scheme)

 

​अग्निवीरों के लिए सभी तीनों सेनाओं में भर्ती आनलाइन माध्यम से होगी। उसमें विशेष रैलियों के अलावा मान्यता प्राप्त टेक्निकल इंस्टीटयूट के कैंपस इंटरव्यू भी शामिल है। आयु सीमा 17.5 से 21 वर्ष रखी गयी है। शैक्षिक योग्यता वही रहेगी, जो ​विभिन्न कैटेगरी में भर्ती के लिए जरूरी होती है। जैसे-जनरल ड्यूटी (जीडी) सैनिक में भर्ती के लिए होती है, उसके लिए कक्षा 10 पास होना अनिवार्य है। यानि 10वीं और 12वीं पास होने के अलावा मेडिकल मापदंडों पर भी खरा उतरना होगा।

 

agneevir pdf

 

क्यों बनी ​अग्निपथ योजना? (What is agneepath scheme)

 

अग्निपथ योजना डिजाइन करने का मकसद सशस्त्र बलों में युवा प्रोफाइल को सक्षम बनाना है। यह योजना सशस्त्र बलों के युवा प्रोफाइल को और बढ़ाएगा और ‘जोश’ व ‘जज्बा’ का एक नया कलेवर देगा। सशस्त्र बलों में परिवर्तनकारी बदलाव लाएगा, जो समय की जरूरत है। ऐसी परिकल्पना है कि इस योजना के जरिए सेना की औसत आयु करीबन 4-5 साल कम होगी।

 

प्रशिक्षित कर्मियों की उपलब्धता होगी

 

कुशल, परिश्रमी और आत्म अनुशासित युवाओं से जो अन्य क्षेत्रों में भी अपना योगदान दे सकते हैं, उससे राष्ट्र का लाभ होता है। इस योजना से उन प्रशिक्षित कर्मियों की उपलब्धता होगी, जिनकी प्राकृतिक आपदाओं, राष्ट्र पर बाहरी या आंतरिक खतरों के समय जरूरत होती है। इससे युवाओं के शारीरिक फिटेनस के साथ देश भक्ति की भावना में बढोत्तरी होगी। यह योजना प्रमुख तौर पर रक्षा सुधार की तरफ उठाया गया कदम है, जो सशस्त्र बलों की भर्ती की नीति में नये युग की शुरूआत की तरह हैं।

 

आयकर के दायरे से बाहर होगी सेवा निधि, 11.71 लाख की सेवा निधि मिलेगी (What is agneepath scheme)

 

अग्निवीरों को मिलने वाली सेवा निधि आयकर के दायरे से बाहर होगी। उन्हें ग्रेच्युटी या पेंशन का लाभ नहीं मिलेगा। उन्हें अपनी कार्यावधि के दौरान 48 लाख रूपये का जीवन बीमा कवर मिलेगा।

 

समाज में ज्यादा बेहतर योगदान

 

अग्निवीर चार साल के कार्यकाल के बाद समाज में ज्यादा बेहतर योगदान दे सकते हैं।अग्निवीर ने जो कौशल प्राप्त किया है। उसे एक प्रमाण पत्र के रूप में मान्यता दी जाएगी। इन चार वर्षों में अग्निवीर परिपक्व हो जाएंगे। चार साल की नौकरी के बाद उनके लिए अन्य अवसर भी मौजूद रहेंगे। करीबन 11.71 लाख रुपये की मिलने वाली सेवा निधि उन्हें अपने आगे की योजना को पूरा करने में मदद करेगी।

 

इन सेवाओं में अग्निवीरों को दस फीसदी आरक्षण (Agnipath Scheme Detail in Hindi)

 

-रक्षा मंत्रालय की 16 पीएसयू समे​त अन्य जाब में

-केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल में

-असफ राइफल्स में

 

इन केंद्रीय विभागों की नौकरियों में मिलेगी सहूलियत (Agnipath Scheme Detail in Hindi)

 

-मर्चेंट नेवी में छह अवसरों में मौका मिलेगा

-पेट्रोलियम मंत्रालय

-आवास मंत्रालय

-नागरिक उडडयन मंत्रालय

-शिक्षा और कौशल विकास-उद्यमिता मंत्रालय

-वित्तीय सेवाएं महकमा

-स्कूल शिक्षा-साक्षरता विभाग

 

Defense Minister Rajnath Singh ने  की बैठक

 

Agneepath Scheme के खिलाफ विरोध जारी है। उधर Defense Minister Rajnath Singh ने रविवार को इस सिलसिले में एक बैठक की, जिसमें सेना के तीनों प्रमुख शामिल थे। उसके बाद पत्रकारों को डिपार्टमेंट ऑफ मिलिट्री अफेयर्स के अतिरिक्त सचिव लेफ्टिनेंट जनरल अनिल पुरी ने संबोधित किया।

 

ये रहीं खास बातें

 

-Agneepath Scheme वापस नहीं होगी

-Agnipath Protest की हिंसा में शामिल लोगों को भर्ती में जगह नहीं मिलेगी

-योजना के बदलाव पहले से प्रस्तावित थे, ये किसी दबाव में नहीं किए गए

-सेना में 30 साल की उम्र वाले सैनिकों की बड़ी संख्या

-सेना में जोश और होश दोनों का कांबिनेशन चाहते हैं

-‘अग्निवर’ को देश की सेवा में जान जाने पर एक करोड़ रुपये का मुआवजा मिलेगा

-अगले 4-5 वर्षों में सैनिकों की भर्ती 50-60 हजार होगी

-बाद में यह बढ़कर 90 हजार से एक लाख हो जाएगा

-46,000 से छोटी शुरुआत की है

-यह सुधार लंबे समय से लंबित था

-उम्मीदवारों को लिखित शपथ पत्र देना होगा

-कि वे विरोध या हिंसा का हिस्सा नहीं थे

-उसका पुलिस सत्यापन होगा

-सेना को युवा बनाने के लिए विदेशी ताकतों पर भी स्टडी की

-अगस्त की पहली छमाही में शुरू होंगी सेना भर्ती के लिए रैलियां

-दिसंबर के पहले सप्ताह तक आ जाएगी ‘अग्निवीर’ की पहली खेप

-दूसरी खेप फरवरी तक आएगी

-सेना देश के हर गांव को टच कर 83 भर्ती रैलियां करेगी

-‘अग्निवीर’ का पहला जत्था नौसेना के लिए 21 नवंबर तक

-इस साल दिसंबर तक वायु सेना ‘अग्निवीर’ के पहले बैच का नामांकन करेगी

यह भी पढें—

Agneepath Myths vs Facts

How to apply agnipath? भारतीय सेना में अग्निवीर के लिए कैसे करें आवेदन , जानिए पूरी प्रक्रिया

Tejaswi Yadav : Agniveer Recruitment में जाति प्रमाण पत्र मांगे जाने पर उठाए सवाल तो लोगों ने दिखाया आईना

Happy Father’s Day 2022 Quotes in Hindi, ये भी जानें