केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने जनसंख्या नियंत्रण कानून को लेकर कही ये बड़ी बात, क्या खत्म होगा वोटिंग का अधिकार

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने जनसंख्या नियंत्रण कानून को लेकर कही ये बड़ी बात, क्या खत्म होगा वोटिंग का अधिकार

बेगूसराय। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने जनसंख्या नियंत्रण कानून को लेकर एक बड़ी बात कही है। उनका कहना है कि कड़ा कानून बनाकर, उसका पालन नहीं करने वालों का वोटिंग राइट छीना जाना चाहिए। उन्होंने अपनी यह मांग उठायी है।

बेगूसराय में शनिवार को उन्होंने कहा कि दुर्भाग्यपूर्ण है आज बदरुद्दीन जैसे लोग हमें गालियां दे रहे हैं। धर्म के आधार पर बने पाकिस्तान में आजादी के समय ही यह हो गया होता कि सभी मुसलमान वहां जाए। जो सनातन धर्म को मानने वाले एवं गैर मुस्लिम हैं वह भारत में रह जाते, तो आज बदरुद्दीन और ओवैसी जैसे लोग हमें गालियां नहीं देते।

हम देश की नीतियों के साथ जनसंख्या नियंत्रण कानून की मांग कर रहे हैं। इन लोगों की जुबान चीन पर नहीं खुल रहा है। चीन ने वन चाइल्ड पॉलिसी लाया और सभी मुसलमानों को भी उसे मानना पड़ा। आज हम जनसंख्या नियंत्रण की बात कर रहे हैं तो वह नसीहत दे रहे हैं, हमें नहीं चाहिए उनकी नसीहत। हमारे पूर्वज महर्षि सगर थे, जिनके 60 हजार बच्चे थे। लेकिन किसी बच्ची से, अपने परिवार की बच्ची से पूर्वजों ने शादी नहीं किया।

हमारे पूर्वजों ने जो भी किया सनातन धर्म के अनुसार किया। भारत में जनसंख्या नियंत्रण कानून इसलिए होना चाहिए कि यहां संसाधन सीमित है। पूरी दुनिया की 20 प्रतिशत आबादी भारत में रह रही है, जबकि जमीन मात्र ढ़ाई प्रतिशत और पानी चार प्रतिशत से भी कम है। 1979 भारत का जीडीपी चीन से अधिक था और चीन की जनसंख्या अधिक थी।

बढ़ती जनसंख्या से सीख लेकर चीन ने वन चाइल्ड पॉलिसी लाया, जिसका सभी धर्म के लोगों को पालन करना पड़ा और आबादी को रोकने में सफल होकर वह दुनिया का आर्थिक संबल देश बना। भारत में भी ऐसे ही कानून की जरूरत है, चीन में एक मिनट में दस बच्चे पैदा हो रहे, जबकि भारत में एक मिनट में 31-32 बच्चे पैदा हो रहे हैं।

जनसंख्या नियंत्रण कानून ऐसा बने कि हिंदू, मुसलमान, सिख, ईसाई सब पर लागू हो। जो नहीं माने, उसको सरकारी योजनाओं से वंचित कर दिया जाए, उसे कानूनी दंड दिया जाए, वोटिंग राइट्स खत्म कर दिया जाए। इसलिए कोई हमें ज्ञान नहीं दे, भारत की संस्कृति को पढ़ने में उन्हें चार जन्म लगेगा, जो मुगलों से डर गया, वही मुसलमान बना हुआ है। हम तो काली, दुर्गा, सरस्वती, लक्ष्मी के उपासक हैं, इसलिए हमें किसी की नसीहत नहीं चाहिए।

सामूहिक हत्याकांड के लिए कुख्यात देशों में पाकिस्तान सबसे ऊपर

भारतीय रेलवे प्रबंधन सेवा (आईआरएमएस) में भर्ती को होगी विशेष परीक्षा

भारतीय रेलवे की कमाई में यात्री किराए से 76 फीसदी की बढोत्तरी, जानिए कितनी है कुल कमाई

मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) बने नाना, बेटी ईशा जुड़वा बच्चों को दिया जन्म