Status of Ukraine Russia war in Hindi: यूक्रेन के विदेश मंत्री ने भारत को लेकर कही ये बड़ी बात

Status of Ukraine Russia war in Hindi: यूक्रेन के विदेश मंत्री ने भारत को लेकर कही ये बड़ी बात

Status of Ukraine Russia war in Hindi: यूक्रेन के विदेश मंत्री दिमित्रो कुलेबास ने भारत पर आरोप लगाते हुए बुधवार को कहा है कि यूक्रेन भारत का एक विश्वसनीय भागीदार रहा है, लेकिन रूस से कच्चा तेल खरीदकर, भारत वास्तव में यूक्रेनी रक्त खरीद रहा है। विदेश मंत्री दिमित्रो ने एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए तर्क दिया कि यूक्रेन भारत का एक विश्वसनीय भागीदार रहा है।

रूस से कच्चा तेल खरीदकर यूक्रेन का खून खरीद रहा है भारत: विदेश मंत्री दिमित्रो कुलेबास

उन्होंने कहा कि जब भारत रूस से कच्चा तेल [छूट पर] खरीदता है, तो उन्हें यह समझना होगा कि छूट का भुगतान यूक्रेन के खून से करना होगा। भारत को मिलने वाले रूसी कच्चे तेल के हर बैरल में यूक्रेन के खून का एक अच्छा हिस्सा होता है। हम भारत के लिए मित्रवत और खुले हैं। मैंने भारतीय छात्रों को निकालने में समर्थन किया। हमें भारत से यूक्रेन को अधिक व्यावहारिक समर्थन की उम्मीद थी। (current situation of ukraine and russia war in hindi)

भारत के विदेश मंत्री ने दिया था यह बयान

उनका यह बयान भारत के विदेश मंत्री (ईएएम) एस जयशंकर के उस बयान के बाद आया है। जिसमें उन्होने कहा था कि दुनिया में कच्चे तेल की कीमत ज्यादा है। भारत में पर कैपिटा इनकम दो हजार डालर है। ऐसे में हमारे नागरिकों को महंगा तेल खरीदने में दिक्कते होंगी। यह वे लोग नहीं हैं जो तेल की ऊंची कीमतें वहन कर सकते हैं। यह मेरा दायित्व है…नैतिक कर्तव्य है कि वास्तव में उन्हें दुनिया से सबसे अच्छा सौदा मिल सकता है।

यूक्रेन के विदेश मंत्री ने कही ये बात

विदेश मंत्री ने समझाया कि भारत रूस सहित कई देशों से ऊर्जा प्राप्त करने में “चतुर” होने की कोशिश नहीं कर रहा है, और भारत की स्थिति को “प्रत्यक्ष” के रूप में प्रस्तुत किया, और कहा, “मेरी समझ में यह है कि दुनिया इसे एक वास्तविकता के रूप में स्वीकार करती है।” यूक्रेन के मंत्री ने स्वीकार किया कि रूस से ऊर्जा खरीद जारी रखने के भारत के निर्णय ने कीव को “आश्चर्यचकित” नहीं किया है, लेकिन यह देखा कि यूक्रेन में युद्ध रूस को ऊर्जा व्यापार से पैसा बनाने का अवसर प्रदान कर रहा है। (ukraine russia war in hindi)

बच्चे युद्ध में मर रहे हैं

बहरहाल यूक्रेन के विदेश मंत्री ने कहा कि हर युद्ध में पीड़ित होते हैं और फिर कुछ ऐसे भी होते हैं जो पैसा कमाते हैं। एशियाई देशों को युद्ध और शोषण के कारण सदियों से नुकसान उठाना पड़ा, और याद दिलाया कि तटस्थता की परंपरा, जिसका पालन फरवरी से इंडोनेशिया और भारत जैसे कई देशों ने किया है, को उचित नहीं ठहराया जा सकता है। बच्चे युद्ध में मर रहे हैं।

World News Today in Hindi: पाकिस्तान में क्यों सुनाया गया विदेश मंत्री एस जयशंकर का बयान, मचा सियासी बवाल

Top Army Movies in Hindi

Advantages and Disadvantages of Agriculture: कृषि के लाभ और हानि

Advantages and Disadvantages of Agriculture: कृषि के लाभ और हानि