शंभु का डमरू बजेगा, समाज का आईना अमृत विचार बनेगा

शंभु का डमरू बजेगा, समाज का आईना अमृत विचार बनेगा

हज़ारों मुश्किलें आयी, मुफलिसी का बड़ा दौर भी आया लेकिन मन में था विश्वास और पूरा था विश्वास, इसलिए आज सफलता के शिखर पर अमृत विचार समाचार पत्र की पताका लहरा रही है।

यह भी पढ़ें : विश्व योग दिवस के अवसर पर फिक्की फ्लो ने आयोजित की कार्यशाला

जीएसटी और नए नए कानूनों की मार से समाचार पत्र उद्योग को बड़ा नुकसान पहुंचा था और अभी समाचार पत्र इससे उबर भी नहीं पाया था कि कोविड-19 के लॉकडाउन का अंधेरा समाचार पत्रों के लिए अंधकार ले आया।

यह भी पढ़ें : शेखचिल्ली भी हैरान है, काशी है न ‘क्यूटो’ ये तो वेनिस’ बना दियो

ऐसे दौर में जब बड़े बड़े समाचार पत्र बंद हो रहे थे और हजारों पत्रकार और मीडिया कर्मी बेरोजगार हो रहे हो वही इन विषम परिस्थितियों में भी हिंदी समाचार पत्र के माध्यम से जनता की आवाज और उनकी समस्याओं को अल्फाज़ो की शक्ल में प्रकाशित करने के लिए हमारे अग्रज Shambhu Dayal Vajpayee की दीवानगी का जुनून इस हद तक था कि अपने मुफलिसी और गुरबत के दिनों में भी सिर्फ और सिर्फ जनता की आवाज बनकर समाचार पत्र के माध्यम से जन समस्याओं का निराकरण और सच्चाई को सामने लाने का विचार हर वक़्त उनके ज़हन में रहता था।

उनके इसी विचार, दृढ़ता, विश्वास और अमरत्व वाणी पर ईश्वरीय कृपा हुई तो जन समस्याओं पर केंद्रित अमृत विचार, हिंदी समाचार पत्र का विषम परिस्थितियों में भी शुभारंभ हो गया। अग्रज शंभू दयाल बाजपाई द्वारा दिन-रात किया गया परिश्रम, लगन और समाचार पत्र को एक मुकाम पर पहुंचाने की तपस्या का परिणाम है कि समाचार पत्र शुरू होते ही चंद महीनों में बरेली और कुमाऊं मंडल में जनता की पहली पसंद बन गया।

यह भी पढ़ें : हे चंपत जी !! 50 करोड़ की भूमि कब्जियाने का आरोप

अपने परिश्रम को परवान चढ़ता देखकर और अमृत विचार समाचार पत्र को मिली अपार सफलता पर ये मिशन रुका नहीं बल्कि आगे और आगे बढ़ने की अपनी ललक को लेकर अग्रज शंभु दयाल बाजपेयी द्वारा उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से इस समाचारपत्र का प्रकाशन करने का निर्णय लिया गया।

यह भी पढ़ें : दिवंगत पत्रकार साथियों को “आईना” की विनम्र श्रद्धांजलि

हम सबको इस बात का पूर्ण विश्वास है कि पाठकों के बीच हिंदी समाचार पत्रों की जो विश्वसनीयता ख़त्म होती जा रही है अमृत विचार न सिर्फ उस विश्वनीयता को बरकरार रखेगा बल्कि जन समस्याओं से जुड़ी खबरों को विस्तार पूर्वक समझने का शासन प्रशासन को समाचार पत्र के माध्यम से मौका भी मिलेगा।

यह भी पढ़ें : मयंक जोशी ने 10 लीटर के 10 ऑक्सीजन कन्सट्रेटर अस्पताल को किये प्रदान

अमृत विचार समाचार पत्र समाज के आईने की तरह काम कर रहा है और हमें इस बात का गर्व है कि आईना (आल इंडिया न्यूज़पेपर एसोसिएशन) संगठन को भी आपका सानिध्य, स्नेह और सलाह हर वक़्त मिलती रही है। आईना संगठन के हर कार्यक्रम में अपनी मसरूफियात के चलते हुए भी आपने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई है और संगठन के सलाहकार के रूप में हर वक्त हमें आपका आशीर्वाद, स्नेह प्राप्त हुआ है।

यह भी पढ़ें : लखनऊ बाॅडी बिल्डर्स एण्ड फिजिक एसोसिएशन ने किया भोजन का वितरण

हम सबको पूर्ण विश्वास है कि आपके नेतृत्व में अमृत विचार का डमरू पूरे उत्तर प्रदेश में बजेगा और जनसमस्याओं पर आधारित अमृत विचार, समाचार पत्र प्रदेश की राजधानी लखनऊ में जनता के बीच में खिलेगा और समाज का आईना बनेगा।