Rampur by-election 2022 में रचा जा रहा इतिहास, कांग्रेसी नवाब के बीजेपी उम्मीदवार को समर्थन से बदले समीकरण

Rampur by-election 2022 में रचा जा रहा इतिहास, कांग्रेसी नवाब के बीजेपी उम्मीदवार को समर्थन से बदले समीकरण

Rampur Byelection 2022: उत्तर प्रदेश के रामपुर विधानसभा सीट पर उपचुनाव की लड़ाई रोचक अंजाम तक पहुंचती दिख रही है। उप चुनाव अगले महीने होने वाला है। पर उसके पहले ही रामपुर के बदलते सियासी समीकरणों ने इतिहास रच दिया है। ऐसा पहली बार हुआ है कि किसी भाजपा उम्मीदवार को किसी कांग्रेसी नेता ने अपना मौन समर्थन दिया है। इसकी वजह से कांग्रेस में अंदरखाने हड़कम्प मच गया है। नवाब काजिम अली खां कांग्रेस के वरिष्ठ सदस्य हैं, वह बीजेपी उम्मीदवार आकाश सक्सेना को समर्थन देते दिख रहे हैं। खुद आकाश सक्सेना ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा है कि काजिम अली ने उनको समर्थन के लिए कहा है।

कौन है काजिम अली?

काजिम अली खां रामपुर के शाही परिवार से ताल्लुक रखते हैं। वह यहां से पांच बार एमएलए भी रह चुके हैं। सपा नेता मोहम्मद आजम खां से उनका नाता पहले से ही सही नहीं रहा है। अब आजम खां चुनाव लड़ने के लिए अयोग्य घोषित हो चुके हैं। ऐसे में रामपुर की लड़ाई इन समीकरणों के बीच काफी दिलचस्प हो चली है।

इसलिए बदलते दिख रहे समीकरण

आकाश सक्सेना रामपुर के पूर्व सांसद शिव बहादुर सक्सेना के पुत्र हैं। सपा ने आजम के करीबी असीम रजा पर दांव चला है। दिलचस्प यह है कि कांग्रेस की पूर्व सांसद बेगम नूर बानो के बेटे काजिम अली आजम खां समर्थित किसी उम्मीदवार का समर्थन नहीं करेंगे। हालिया असीम रजा रामपुर से ही लोकसभा का उपचुनाव भी लड़ चुके हैं। पर उन्हें हार मिली थी।

चुनाव अवधारणाओं से लड़े जाते हैं

बीजेपी के वरिष्ठ नेतागणों का कहना है कि कासिम अली का समर्थन भाजपा के लिए फायदेमंद साबित होगा, क्योंकि चुनाव धारणाओं पर लड़े जाते हैं। शिया वोटर आकाश सक्सेना के पक्ष में आ सकते हैं, और काजिम अली ने आकाश सक्सेना को समर्थन दिया है न कि बीजेपी को। चूंकि आकाश ने आजम खान के खिलाफ मोर्चा खोला था, और वह उस पर डटे भी रहें।

80 हजार मुस्लिम वोटर्स पर निगाहें

रामपुर सपा नेता आजम खां का गढ माना जाता रहा है।
रामपुर सीट पर मुस्लिम मतदाताओं की संख्या करीबन 80 हजार है।
वैश्य और लोधी समाज के करीब 35-35 हजार वोटर्स हैं।
करीब 15 हजार एससी वोटर्स हैं।
करीब 10 हजार यादव वोटर्स हैं।
बीजेपी का मुस्लिम वोटर्स के अलावा लोधी और वैश्य वोटों पर फोकस।

सपा परिवार में अनबन की अटकलों पर लगा पूर्ण विराम, मैनपुरी उपचुनाव में मिटी दिल के बीच की दूरियां

सीजीएसटी के नवनियुक्त निरीक्षकों से वरिष्ठों ने साझा किए अनुभव

21 November 2022 Ka Rashifal : 12 राशियों के जातकों के लिए क्या कहता है आज का राशिफल

स्मोकिंग करने वाले जरुर दें ध्यान यदि ये लक्षण दिखे तो समझ जाएं कि डैमेज हो गए हैं आपके फेफड़े

जानिए वृषभ राशि का स्वामी, लकी कलर, स्टोन, लकी दिन और वह सब कुछ जो आप जानना चाहते हैं

जानिए मेष राशि का स्वामी, लकी कलर, स्टोन, लकी दिन और वह सब कुछ जो आप जानना चाहते हैं