मुस्लिमों का रुख तय करेगा हमीरपुर सदर का अगला विधायक

मुस्लिमों का रुख तय करेगा हमीरपुर सदर का अगला विधायक

हमीरपुर। विधानसभा 2022 के चुनाव को लेकर सियासी गहमा-गहमी चरम पर पहुंच रही है। सपा-भाजपा, बसपा या फिर कांग्रेस के प्रत्याशियों ने चुनाव में जीत की पताका फहराने के लिए जोर-शोर से चुनाव प्रचार भी शुरू कर दिया है। बात करें अगर हमीरपुर सदर विधानसभा की तो यहां पर भाजपा और सपा की ओर से घोषित किए गए प्रत्याशियों के बाद चुनावी समीकरण ही एकदम से बदल गए हैं। हमीरपुर सदर सीट निषाद बाहुल्य होने के कारण इस सीट पर निषादों का वोट निर्णायक माना जाता है। लेकिन सपा ने इस सीट से पार्टी में नए आए रामप्रकाश प्रजापति को उम्मीदवार बनाया है जिसके बाद पार्टी के अंदरखाने में विरोध के सुर भी बुलंद हुए।

यह भी पढ़ें : कांग्रेस प्रत्याशी डॉ0 मनीष सिंह चौहान ने जनसंपर्क कर मांगें वोट

यहां तक कि सपा से टिकट के प्रबल दावेदार मनोज प्रजापति के नेतृत्व में नाराज सपा कार्यकर्ताओं ने अखिलेश यादव के सम्मुख विरोध प्रदर्शन भी दर्ज कराया। जहां एक ओर आम सपा कार्यकर्ता रामप्रकाश प्रजापति को हजम नहीं कर पा रहा है वहीं दूसरी ओर ऐसा ही कुछ हाल भाजपा खेमे में भी नजर आ रहा है। भाजपा ने इस सीट से सपा के बागी व कुछ दिनों पहले तक सपा से टिकट के प्रबल दावेदार रहे मनोज प्रजापति पर ही दांव लगा दिया है। जिससे नाराज भाजपा कार्यकर्ता भारी मन से मनोज प्रजापति को चुनाव लड़ा रहे हैं। समीकरणों की बात की जाए तो ऐसे में कांग्रेस की उम्मीदवार व पूर्व विधायक व सांसद रहे अशोक चंदेल की पत्नी राजकुमारी सिंह लोगों को चौंका सकती हैं।

यह भी पढ़ें : आज होगा मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का लखनऊ आगमन

जैसे-जैसे सपा और भाजपा से चुनावी मैदान में उतरे दोनों प्रजापति प्रत्याशियों की टक्कर तेज होती दिख रही है वैसे-वैसे मुस्लिम मतदाताओं का रुख अहम होता जा रहा है। कहा जा रहा कि जो भाजपा को हराता दिखेगा मुस्लिम एकजुट होकर उसे ही वोट करेंगे। ऐसे में कांग्रेस की प्रत्याशी राजकुमारी सिंह की लाटरी खुल सकती है। जात-पात व संप्रदाय की डोर से परे अशोक चंदेल पर पहले भी मुस्लिम मतदाता मेहरबान होते रहे हैं। हमीरपुर सदर विधानसभा सीट में क्षत्रिय वोट बैंक के अलावा अन्य बिरादरियों में भी चंदेल परिवार की खासा पकड़ है। यही वजह कि जनता उन्हें जीत का प्रबल दावेदार मान रही है। वहीं दूसरी ओर बसपा के चुनाव निशान के साथ मैदान में उतरे रामफूल निषाद बसपा के कोर वोटबैंक को समेटने का करेंगे जिससे मुकाबले का रोचक होना लाजमी है।

हमीरपुर सदर विधानभा सीट पर कुल मतदाता : 400796

पुरुष मतदाता : 220300 (62.87 प्रतिशत)

महिला : 180490 (59.99 प्रतिशत)

थर्ड जेंडर : 6

जातिगत आंकड़े

सामान्य :-
ब्राम्हण : 25434
क्षत्रिय : 28242
बनिया : 13438
कायस्थ : 4773
अन्य : 7502

ओबीसी :-

पाल :16407
यादव : 31852
लोधी : 4453
तेली : 8665
निषाद : 45650
कुशवाहा : 15845
प्रजापति : 34860
नाई : 3409
अन्य : 12957

दलित/आदिवासी/अल्पसंख्यक :-

जाटव /अहिरवार : 56000
अनुरागी/कोरी : 18894
धोबी : 9387
बाल्मीकि : 12596
खटिक : 4091
सिख : 20
मुस्लिम : 38871
ईसाई : 25