जानिए फेसबुक और ट्विटर कैसे करते हैं बिजनेस और कमाते हैं अरबों रुपये

जानिए फेसबुक और ट्विटर कैसे करते हैं बिजनेस और कमाते हैं अरबों रुपये

Facebook,Meta,Twitter, blue tick 8 dollar, elon musk, twitter, twitter income, twitter loss, twitter revenue, meta income, facebook revenue, elon musk 8 dollar, why twitter blue tick 8 dollar, twitter news, elon musk twitter news, parag agarwal, how twitter earn,ब्लू टिक 8 डॉलर, एलोन मस्क, ट्विटर, ट्विटर आय, ट्विटर राजस्व, मेटा आय, फेसबुक राजस्व, एलोन मस्क 8 डॉलर, ट्विटर ब्लू टिक 8 डॉलर, ट्विटर समाचार, एलोन मस्क ट्विटर समाचार, पराग अग्रवाल, कैसे ट्विटर कमाना


Facebook,Meta,Twitter, blue tick 8 dollar, elon musk, twitter, twitter income, twitter loss, twitter revenue, meta income, facebook revenue: पूरी दुनिया में सोशल मीडिया का क्रेज सब पर हावी है। दुनिया की एक बड़ी आबादी सोशल मीडिया का इस्तेमाल करती है। डिजिटल दुनिया पर फेसबुक और टिवटर का कब्जा है। देश की आबादी करीबन सवा अरब है। आपको जानकर हैरानी नहीं होगी कि देश के 70 करोड़ आबादी के पास मोबाइल फोन है।

दुनिया भर में 51 फीसदी लोग यूज करते हैं सोशल मीडिया

काउंटरपॉइंट रिसर्च की एक रिपोर्ट आयी है। इसके मुताबिक देश की 70 करोड़ आबादी में से 25 करोड़ के पास स्मार्टफोन है। इसके अलावा चीन है। जिसके यहां सबसे ज्यादा लोग स्मार्टफोन यूज करते हैं। 15.5 करोड़ से ज्यादा लोग हर महीने फेसबुक यूज करते हैं. दुनिया की आबादी इस समय 7.79 अरब है। इसमें से 3.96 अरब जनसंख्या सोशल मीडिया यूजर है। मतलब साफ है कि दुनिया की कुल आबादी का 51 फीसदी लोग सोशल मीडिया यूज करते हैं।

समझिए क्यों पोलिटिकल पार्टियों सोशल मीडिया को देती हैं तवज्जो?

इन आंकड़ों को देखकर आप समझ सकते हैं कि सियासी दल आखिर क्यों सोशल मीडिया पर इतना ज्यादा खर्च कर रही है, सोशल मीडिया पर ही वह अपना चुनावी कैम्पेन तक चलाती हैं। सोशल मीडिया में प्रोफेशनल लोगों की मांग तेजी से बढी है। अब तो बड़े बड़े सेलिब्रेटी से लेकर औसत दर्जे तक के नेता अपने अपने सोशल मीडिया हैंडल को देखने के लिए पर्सनल स्तर पर लोगों को रखने लगे हैं।

अरबों रूपये कैसे कमाती हैं कम्पनियां?

आपको यदि अपने मन की कोई पोस्ट लिखनी हों या तस्वीरें और वीडियो शेयर करने हो तो आप बिल्कुल फ्री में उसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर शेयर कर सकते हैं। पिछले कुछ सालों में इसके काम में विविधता आयी है। बस सिर्फ आपका इंटरनेट का पैसा खर्च होता है। यानि की सिर्फ आपके डेटा का इंवेस्टमेंट होता है। बाकि चीजें आपके लिए नि:शुल्क होती है। अब आप भी सोच रहे होंगे कि ऐसा ही चल रहा है तो आखिरकार यह कम्पनियां अरबों रूपये कहां से कमाती हैं.

कहां से कितना पैसा लाता है फेसबुक?

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म विज्ञापन के जरिए अरबों रुपये कमा रहे हैं।
फेसबुक विज्ञापन के जरिए सबसे ज्यादा कमाई करती है।
कम्पनी अपने प्लेटफार्म पर विज्ञापन दिखाती है।
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक वर्ष 2020 में फेसबुक का रिवेन्यू 6.38 लाख करोड़ था, जो उसके द्वारा जुटाया गया था।
इसमें से 93 फीसदी रेवेन्यू विज्ञापन से प्राप्त हुआ था।
आपको यह जानकर भी हैरानी होगी कि इसमें से अकेले 45 फीसदी रेवेन्यू का हिस्सा अमेरिका और कनाडा से आया।
सिर्फ 55 प्रतिशत कमाई दुनिया के अन्य देशों से होती है।
बात करें भारतीय बाजार की तो फेसबकुल ने अकेले मार्केट से नौ हजार कमाए थे।

ये है फेसबुक का बिजनेस माडल

जब भी आप फेसबुक खोलते होंगे तो उस समय आपके दोस्तों के पोस्ट के साथ अन्य यूजर्स के पोस्ट भी आपको दिखते होंगे।
ऐसे पोस्ट भी आपको दिखते होंगे, जिन्हें आपने कभी न लाइ​क किया और न ही शेयर।
विशेषकर ऐसे पोस्ट किसी व्यापार के प्रचार से जुड़े होते हैं।
इन पोस्ट के उपर स्पान्सर्ड लिखा होता है।
इन पोस्टों को पैड पोस्ट कहा जाता है।
ऐसे पोस्ट को कम्पनी पैसा पे कर फेसबुक पर प्रमोट करती हैं।
ये पोस्ट फोटो, वीडियो या फिर टेस्ट के फार्मेट में हो सकते हैं।

विज्ञापनों से कमाता है पैसा

छोटे-बड़े तमाम विज्ञापन फेसबुक के पास आते हैं।
फेसबुक अपने प्लेटफार्म ‘फेसबुक बिजनेस’ का इस्तेमाल विज्ञापनों के लिए करता है।
यूजर इसका प्रयोग कर विज्ञापन भी बनाते हैं।
भारत में आप कम से कम 40 रूपये का विज्ञापन फेसबुक को दे सकते हैं।
हालांकि अलग अलग देशों में इसका अलग अलग रेट है।
जब कोई यूजर उस विज्ञापन पर क्लिक करता है।
तो फेसबुक को धन की प्राप्ति होती है।
इसके अलावा कुछ विज्ञापन बिदाउट क्लिक वाले भी होते हैं। यानि कि यूजर सिर्फ उन्हें देख ले तो फेसबुक को धन की प्राप्ति होती है।ऐसे में जब भी कोई यूजर स्क्रीन पर नजर आ रहे विज्ञापन पर क्लिक करता है तो इससे फेसबुक को पैसे मिलते है और कुछ विज्ञापन ऐसे भी होते है जिन्हें अगर यूजर देख भी लेते है तो फेसबुक को पैसे मिल जाते है.

ट्विटर की कमााई कहां से और कितनी ?

टिवटर पर एडवरटाइजिंग और डेटा लाइसेंसिंग से कमाई होती है।
एडवरटाइजिंग मतलब प्रमोटेड प्रोस्ट है।
डेटा लाइसेंसिंग का मतलब भी समझिए।
इसका साफ मतलब होता है कि कम्पनी अपने यूजर्स का कुछ डेटा बेचकर लाभ कमाती है।
इसके पीछे तर्क है कि ताकि उस व्यक्ति को उसकी पसंद को विज्ञापन दिखाया जा सके।

2021 में कंपनी का रेवेन्यू 5 बिलियन डॉलर यानि की 42,160 करोड़ रुपये था।
विज्ञापन से 4.6 बिलियन डॉलर मतलब कि 37,410 करोड़ रुपये प्राप्त हुए थे।
और डेटा लाइसेंसिंग से 4,750 करोड़ रुपये टिवटर ने जुटाए थे।
मतलब साफ है कि ट्विटर के रेवेन्यू में 89 प्रतिशत सिर्फ विज्ञापन से जुटाए गए।

घाटे में चल रही है ट्विटर

ट्विटर कई सालों से चल ही है घाटे में।
टिवटर के नये मालिक एलन मस्क के सामने चुनौती है कि वह कम्पनी की आय बढाएं।

मौजूदा वर्ष की जून तिमाही में कंपनी को तगड़ा झटका लगा।

कम्पनी को 270 मिलियन डॉलर का घाटा हुआ।
जबकि, पिछले साल 1,800 करोड़ रुपये यानि 221 मिलियन डॉलर का नुकसान हुआ था।

Discount Offers On Maruti Cars: इन कारों पर 57000 रुपये तक का डिस्काउंट ऑफर

Dev Uthani ekadashi 2022: घर घर होगा तुलसी विवाह, ये हैं विवाह के शुभ मूहुर्त

RASHIFAL Saturday 5 NOVEMBER 2022: क्‍या कहता है आपका आज का राशिफल

Dipannita Sharma Photos: Mismatched 2 एक्ट्रेस की इन अदाओं से बढ रहे दीवाने

Indian Cricket Team: ये घातक तेज गेंदबाज टीम इंडिया में नहीं बना पा रहा अपनी जगह


Facebook,Meta,Twitter, blue tick 8 dollar, elon musk, twitter, twitter income, twitter loss, twitter revenue, meta income, facebook revenue, elon musk 8 dollar, why twitter blue tick 8 dollar, twitter news, elon musk twitter news, parag agarwal, how twitter earn,ब्लू टिक 8 डॉलर, एलोन मस्क, ट्विटर, ट्विटर आय, ट्विटर राजस्व, मेटा आय, फेसबुक राजस्व, एलोन मस्क 8 डॉलर, ट्विटर ब्लू टिक 8 डॉलर, ट्विटर समाचार, एलोन मस्क ट्विटर समाचार, पराग अग्रवाल, कैसे ट्विटर कमाना