Kawad Yatra Registration 2022 link policecitizenportal.uk.gov.in/Kavad पर जाकर करें रजिस्ट्रेशन, जानें पूरी प्रक्रिया

Kawad Yatra Registration 2022 link policecitizenportal.uk.gov.in/Kavad पर जाकर करें रजिस्ट्रेशन, जानें पूरी प्रक्रिया

Kawad Yatra Registration 2022 link policecitizenportal.uk.gov.in/Kavad है। इस लिंक पर जाकर कांवड़िए/कांवरिए रजिस्ट्रेशन (kawad yatra 2022 registration) कर सकते हैं। श्रावण के महीने में kawad yatra 2022 registration online करके कावंड़ यात्रा करने में आसानी होगी। uttarakhand kawad yatra 2022 registration के लिए kawad yatra registration link ऊपर दिया गया है। इस लिंक से कावंड़ यात्रा करने के इच्छुक लोग kawad yatra registration uk करा सकते हैं और अपना kawad yatra registration status भी देख सकते हैं।

kawad yatra registration 2022 link policecitizenportal.uk.gov.in/Kavad पर जाएं

यह आर्टिकल इसलिए दिया जा रहा है ताकि आपको कावंड़ यात्रा (kawad yatra registration uttarakhand) करने में मुश्किल न हो। हरियाणा (kawad yatra registration haryana) दिल्ली
(delhi police kawad yatra registration) और यूपी (kawad yatra registration यूपी) से भी लोग कावंड़ यात्रा करने के लिए रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया जानना चाह रहे हैं। यह आर्टिकल उसमें आपकी मदद करेगा। इस लिंक से आप kawad yatra 2022 registration online कर सकते हैं।

kawad yatra 2022 start and end date जानिए

कांवड़ यात्रा 14 जुलाई से शुरू हुई है, कांवर यात्रा 26 जुलाई (kawad yatra 2022 end date) तक चलेगी (kawad yatra 2022 date in hindi)। उत्तराखंड (uttarakhand) सरकार के सहयोग से कांवड़ यात्रा हो रही है। कोरोना महामारी के कारण दो वर्ष से कांवर यात्रा स्थगित थी। कोरोना महामारी कंट्रोल हुआ, अब यात्रा शुरू हुई है। अनुमान के मुताबिक कांवड़ यात्रा में तीन से चार करोड़ लोग शामिल होंगे। (kawad yatra registration 2022 link policecitizenportal.uk.gov.in/Kavad)

kawad yatra 2022 route map जानिए

शिव भक्त कावंड़ यात्रा के दौरान उत्तराखंड जाते हैं। कांवरिए धर्मनगरी से ऋषिकेश के साथ केदारनाथ और बद्रीनाथ की भी यात्रा करते हैं।

Frequently Asked Question (FAQ)

1-कांवर यात्रा (kanwar yatra) की शुरूआत कैसे हुई थी? (kanwar yatra ki shuruat kaise hui)

-कांवड़ यात्रा की शुरूआत कैसे हुई थी, इसको लेकर अलग अलग मान्यताएं प्रचलित हैं। हिंदू धर्मग्रंथों की मान्यताओं के अनुसार त्रेतायुग में शिवभक्त रावण ने कांवड़ का उपयोग गंगा जल लाने के लिए किया था और शिव लिंग पर चढाया। एक अन्य मान्यता है कि भगवान परशुराम (उन्हें शिव का अवतार कहा जाता है) ने श्रावण के महीने में पहली बार कांवड़ यात्रा की थी। तभी से शिवभक्त यह यात्रा करते हैं। एक अन्य कथा के मुताबिक श्रवण कुमार ने अपने मां और पिता को कांवड़ में रखकर तीर्थ यात्रा करायी थी। उनके पिता भी कांवड़ में गंगा जल लाए थे और उन्होंने उसे शिवजी को अर्पित किया था। मान्यता है कि श्रावण या सावन के महीने में गंगा जल अर्पित करने से महादेव (भगवान शिव) प्रसन्न होते हैं।

2-कांवड़ यात्रा के नियम क्या हैं? (kawad yatra ke niyam kya hain)

-कांवड़ यात्रा के कड़े नियम हैं। पहले तो यह यात्रा पैदल ही की जाती है। यात्रा के दौरान आहार सात्विक होना चाहिए। मांसाहार और शराब इत्यादि खादय पदार्थ आहार में शामिल नहीं होने चाहिए। कांवड़ को पूरी यात्रा के दौरान जमीन पर रखना निषेध है। यदि कांवड़ यात्री को विश्राम करना होता है तो वह कांवड़ को पेड़ पर लटका कर रखते हैं। यदि ऐसा नहीं हुआ तो फिर दोबारा गंगाजल भरकर यात्रा शुरू करनी होती है। मान्यता है कि आपकी मनोकामना तभी पूरी होगी, जब आपने जिस शिव मंदिर में जल अर्पित करने का संकल्प लिया है। उस मंदिर तक गंगा जल कांवड़ में भरकर पैदल ही पहुंचा जाए और भगवान शिव को अर्पित किया जाए।

3-कांवड़ (kawad) क्या होता है? (kawad kya hota hai )

-कांवड़, एक डंडेनुमा बांस होता है, जिसके दोनों तरफ बंधे घड़ों में गंगाजल भरा होता है। जिसे लेकर कांवरिए पैदल ही कावंड़ यात्रा करते हैं।

4-कांवड़ यात्रा कब से शुरू हो रही है? (kawad yatra kb se shuru ho rahi hai)

-इस वर्ष (2022) कांवड़ यात्रा 14 जुलाई से शुरू हो रही है।

5-कांवड़ यात्रा कब तक चलेगी? (kawad yatra kab tak chalegi )

-इस वर्ष (2022) कांवड़ यात्रा 26 जुलाई तक जारी रहेगी।

6-क्या इस वर्ष कांवड़ यात्रा की अनुमति है? (kya is varsh kawad yatra ki anumati hai )

-जी हां, इस वर्ष 14 से 26 जुलाई तक कांवड़ यात्रा की अनुमति है।

7-कांवड़ यात्रा शुरू करने के लिए क्या करना चाहिए? (kawad yatra shuru karne ke liye kya karna chahiye )

-कांवड़ यात्रा शुरू करने के लिए पहले उत्तराखंड पुलिस की वेबसाइट (https://policecitizenportal.uk.gov.in/Kavad) पर रजिस्ट्रेशन कराना चाहिए और फिर कांवड़ यात्रा शुरू करना चाहिए।

8-कांवड़ यात्रा किस महीने में की जाती है? (kawad yatra kis mahine me ki jaati hai )

-कांवड़ यात्रा सावन के महीने में ही की जाती है।

9-कांवड़िया या कांवरिया किसे कहते हैं? (kanwariya kise kahte hain )

-जो शिवभक्त गंगा नदी से पवित्र जल भरकर शिव मंदिर तक जल चढाने के लिए निकलते हैं। उनको कांवड़िया या कांवरिया कहते हैं।

10.कांवड़ यात्रा कितनी लंबी है? (kawad yatra kitni lambi hai)

‘कांवर यात्रा’ भगवान शिव के भक्तों का एक वार्षिक तीर्थ है जो 14 जुलाई को शुरू हुआ था।

Kawad Registration 2022: Kanwar Yatra के लिए इस पोर्टल पर कराएं रजिस्ट्रेशन, जानें पूरी प्रक्रिया

Kawad Yatra 2022 Registration Online: कांवड़ियों को Uttarakhand जाने से पहले इस https://policecitizenportal.uk.gov.in/Kavad पर कराना होगा रजिस्ट्रेशन

Today Cricket News in Hindi Live: क्रिकेट के इतिहास में यह गेंद बनी यादगार, कहलाएगी ‘बॉल ऑफ द सेंचुरी’? (देखें वीडियो)