कार्तिक पूर्णिमा: Kartik Purnima 2022 Date-Time-puja vidhi-Muhurat-Samagri-Mantra , Chandra Grahan 2022 के लाइव अपडेट

कार्तिक पूर्णिमा: Kartik Purnima 2022 Date-Time-puja vidhi-Muhurat-Samagri-Mantra , Chandra Grahan 2022 के लाइव अपडेट

Kartik Purnima (कार्तिक पूर्णिमा), Kartik Purnima 2022, Kartik Purnima 2022 Date, Kartik Purnima 2022 LIVE Updates Puja Vidhi, Muhurat Timings, Samagri, Mantra, Chandra Grahan 2022, Chandra Grahan 2022 Kartik Purnima Vrat Date Time, कार्तिक पूर्णिमा 08 नवंबर 2022, Kartik Purnima 2022 Know Date and Time, kartik purnima 2022 date time, Kartik Purnima 2022 Niyam, Kartik Purnima 2022 Date, देव दीपवाली पर्व:


Kartik Purnima 2022, Dev diwali and Chandra Grahan: कार्तिक माह के आखिरी दिन कार्तिक पूर्णिमा 8 नवंबर 2022 है। कार्तिक पूर्णिमा को त्रिपुरारी पूर्णिमा या गंगा स्नान भी कहा जाता है। हिंदू पंचांग के मुताबिक इस वर्ष कार्तिक पूर्णिमा दो दिन 7 और 8 नवम्बर को पड़ रही है। कार्तिक पूर्णिमा के दिन पवित्र नदियों में स्नान और दान का विधान है। इस दिन लक्ष्मी-नारायण की पूजा की जाती है। इसी दिन देव दीपावली भी मनायी जाती है। दीप दान किया जाता है। पर इस बार की कार्तिक पूर्णिमा खास है, क्योंकि इस बार कार्तिक पूर्णिमा के दिन चंद्र ग्रहण लग रहा है। ऐसे में स्नान, दान, पूजा के मुहूर्त का दिन और समय क्या है। यह जानना बहुत जरुरी है। हम आपको चंद्र ग्रहण के लाइव अपडेट से भी अवगत कराते रहेंगे।


Kartik Purnima 2022 LIVE Updates Puja Vidhi, Muhurat Timings, Samagri, Mantra

कार्तिक पूर्णिमा पर पवित्र गंगा नदी में स्नान का विशेष महत्व है। माना जाता है कि इस दिन गंगा नदी में स्नान से अनंत शुभ फल प्राप्त होते हैं। पौराणिक मान्यताओं के मुताबिक कार्तिक पूर्णिमा के दिन कुश हाथ में लेकर पवित्र नदी में जो भी व्यक्ति नहाता है, उसके सभी रोगों का नाश हो जाता है। उस व्यक्ति के पाप उसी नदी में स्नान करने के साथ ही धूल जाते हैं यानि की उस व्यक्ति को अपने पाप कर्मों से भी मुक्ति मिल जाती है, और उसे मोक्ष की प्राप्ति होती है। कार्तिक पूर्णिमा के दिन ही भगवान श्री कृष्ण ने रास रचा था। इसलिए इस दिवस चंद्रोदय पर शिवा-संभूति-संतति-प्रीति—-अनुसुईया और क्षमा इन छः कृतिकाओं का पूजन जरुर करना चाहिए।


Kartik Purnima 2022 Muhurat Timings

चूंकि 8 नवंबर 2022 को चंद्र ग्रहण पड़ रहा है और इसका सूतक काल सुबह से ही शुरु हो जाएगा। इसलिए शास्त्रों के मुताबिक कार्तिक पूर्णिमा का व्रत, पूजन और दान आदि 7 नवंबर 2022 को ही किया जाना उचित रहेगा। आपको बता दें कि मान्यताओं के अनुसार सूतक काल में पूजन या कोई शुभ कार्य वर्जित है।

-कार्तिक पूर्णिमा 2022- 07 नवंबर शाम 04.15 से शुरु

-कार्तिक पूर्णिमा 2022- 08 नवंबर शाम 04.31 पर समाप्त

-कार्तिक पूर्णिमा 2022- व्रत का दिन 7 नवंबर

-कार्तिक पूर्णिमा 2022- पूजा मुहूर्त शाम 05:40 से शाम 06:06 तक। (चूंकि पूर्णिमा की तिथि इसी दिन शाम को लग रही है, इसलिए श्री हरि की पूजा के लिए मुहूर्त शुभ है।)

-कार्तिक पूर्णिमा 2022- स्नान 8 नवंबर 2022

-स्नान का मुहूर्त – 8 नवंबर 2022 को सुबह 04:57 से सुबह 05:49 तक


पूर्णिमा का स्नान उदयातिथि के अनुसार 8 नवंबर को किया जाएगा, लेकिन चूंकि इस दिन सुबह साढ़े 9 बजे के बाद चंद्र ग्रहण का सूतक शुरू हो जाएगा. इसलिए इससे पहले ही स्नान कर लें. पद्म पुराण के अनुसार कार्तिक पूर्णिमा के दिन पवित्र नदी में किया स्नान और जरुरतमंदों को दान करने से कभी न खत्म होने वाला पुण्य प्राप्त होता है. कहते हैं इस माह में भगवान विष्णु जल में निवास करते हैं. इसी माह में उन्होंने मत्यावतार लिया था, यही वजह है कि इस दिन गंगास्ना का विशेष महत्व है.


कार्तिक पूर्णिमा स्नान 8 नवम्बर को करने का कारण?

आप सोच रहे होंगे कि व्रत आदि 7 नवम्बर को ही किया जाएगा तो स्नान का मुहूर्त 8 नवम्बर को क्यों है? आपको बता दें कि सनातन धर्म में किसी भी तिथि को पंचांग के मुताबिक उसकी उदयातिथि के मुताबिक ही माना जाता है। पूर्णिमा 7 नवम्बर की शाम को लग रही है। पर अगले दिन 8 नवम्बर को उदया तिथि पड़ रही है। उसके अनुसार पूर्णिमा का स्नान 8 नवम्बर को करना उचित रहेगा। पर 8 नवम्बर को सुबह 9 बजे के बाद चंद्रग्रहण का सूतक लग रहा है। इसलिए उसके पहले स्नान करना उचित रहेगा।


कार्तिक पूर्णिमा पर स्नान से होता है ये लाभ

पद्म पुराण के मुताबिक कार्तिक पूर्णिमा पर यदि पवित्र नदी में स्नान किया जाए और जरुरतमंदों को दान दिया जाए तो इससे अक्षुण्य पुण्य मिलता है। ऐसी मान्यता है कि इस माह में श्री हरि जल में ही निवास करते हैं। उनका मत्स्यावतार इसी माह में ही हुआ था। इसलिए भी इस माह पवित्र गंगा नदी में स्नान का विशेष महत्व है।


Chandra Grahan 2022 Date-Time

कार्तिक पूर्णिमा पर वर्ष का आखिरी चंद्र ग्रहण लग रहा है। यह ग्रहण देश में भी दिखेगा। ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक इस चंद्र ग्रहण का सूतक काल 9 घंटे पहले शुरु होता है। इस बीच कोई भी शुभ काम करना ठीक नहीं माना जाता है।

Chandra Grahan 2022 तिथि:                       8 नवंबर 2022
Chandra Grahan 2022 शुरु:                         भारतीय समयानुसार शाम 05.32 बजे
Chandra Grahan 2022 समाप्त:                    शाम 06.18 बजे
Chandra Grahan 2022 सूतक काल शुरु:      सुबह 09.21 बजे
Chandra Grahan 2022 सूतक काल समाप्त: शाम 06.18 बजे


Guru Nanak Jayanti 2022 Wishes: दोस्तों-रिश्तेदारों को भेजें ये शुभकामना संदेश

Satish Jarkiholi Controversial Statement: कांग्रेसी नेता ने हिंदू शब्द को बताया बहुत गंदा

Horoscope Rashifal 8 November 2022: कुंभ, मीन, मिथुन, कर्क, सिंह, तुला राशियों के लिए कैसा रहेगा मंगलवार

Pension News: वीडियो काल के जरिए भी पेंशनर्स जमा कर सकेंगे लाइफ सर्टिफिकेट

श्री हनुमान चालीसा: पढें सभी संकट होंगे दूर /Lord Hanuman Chalisa Lyrics


Kartik Purnima 2022,Chandra Grahan 2022,Dev Diwali 2022, dev diwali 2022 muhurat , kartik purnim 2022 snan, kartik purnim 2022 daan, chandra grahan 2022 sutak kaal, chandra grahan 2022 in india, chandra grahan 2022 in delhi, chandra grahan 2022 drik panchang, lunar eclipse 2022 in india date and time,कार्तिक पूर्णिमा 2022, चंद्र ग्रहण 2022, देव दिवाली 2022, चंद्र ग्रहण 2022 समय, कार्तिक पूर्णिमा 2022 स्नान मुहूर्त, कार्तिक पूर्णिमा 2022 व्रत मुहूर्त, चंद्र ग्रहण सूतक काल 2022, चंद्र ग्रहण 2022 कब शुरू होगा, देव दिवाली 2022 दीपदान मुहूर्त, चंद्र ग्रहण कब है 2022 कितने बजे तक है