2004, 2009, 2014 और 2020 के चुनावी हलफनामों पर आयकर विभाग ने प्रमुख शरद पवार को भेजा नोटिस

2004, 2009, 2014 और 2020 के चुनावी हलफनामों पर आयकर विभाग ने प्रमुख शरद पवार को भेजा नोटिस

आयकर विभाग ने वर्ष 2004, 2009, 2014 और 2020 के चुनावी हलफनामों पर राकांपा प्रमुख शरद पवार को नोटिस भेजा है। पवार ने ट्वीट करते हुए कहा है कि आजकल प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) और केंद्रीय एजेंसियों की मदद ली जा रही है और नतीजे दिख रहे हैं. तमाम विधानसभा सदस्यों का कहना है कि जांच के नोटिस उन्हें भी मिले हैं. पांच साल पहले हम ईडी का नाम तक नहीं जानते थे। आज गांवों में भी लोग मजाक में कहते हैं कि तुम्हारे पीछे ईडी होगा।

उन्होंने यह भी कहा है कि इसका यूज विभिन्न राजनीतिक विचारों वालों के लिए किया जाता है। आयकर से एक लव लेटर मिला है। आयकर विभाग अब वर्ष 2004 के लोकसभा चुनाव लड़ने के दौरान हलफनामे की जांच कर रहे हैं।

महा विकास अघाड़ी गठबंधन में राकांपा, कांग्रेस और शिवसेना शामिल थी। अब बागी विधायक एकनाथ शिंदे ने गठबंधन को भाजपा के समर्थन से सत्ता से बाहर कर दिया है। महाराष्ट्र के 20वें मुख्यमंत्री के रूप में शिंदे ने शपथ ली, भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस ने गुरुवार को डिप्टी सीएम के रूप में शपथ ली।

नूपुर शर्मा ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की, तमाम राज्यों में दर्ज केस को दिल्ली स्थानांतरित करने का आग्रह