Gorakhpur में CM Yogi करा रहे ये दो बड़े काम, जिससे बढेगी शहर की पहचान

Gorakhpur में  CM Yogi करा रहे ये दो बड़े काम, जिससे बढेगी शहर की पहचान

Gorakhpur: CM Yogi Adityanath के गृह जनपद गोरखपुर (Gorakhpur) में जल्द ही गौरव संग्रहालय बनेगा। उसमें नाथ पंथ, बौद्ध धर्म, जैन सम्प्रदाय की विविधताओं और परम्पराओं को यहां दर्शाया जाएगा। सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) का कहना है गोरखपुर में यह एक ऐसा संग्रहालय हो कि यदि किसी शोधार्थी को भारत, यूपी और गोरखपुर के आसपास के महत्वपूर्ण स्थलों के बारे में जानकारी चाहिए तो वह संग्रहालय की तरफ आए।

स्वतंत्रता सेनानियों की होंगी तस्वीरे

संग्रहालय में अमर शहीद राम प्रसाद बिस्मिल और शहीद बन्धु सिंह समेत स्वतंत्रता सेनानियों की तस्वीरे होंगी।
संग्रहालय में गोरखपुर (Gorakhpur) का गौरव प्रदर्शित करने के लिए हाई टेक्नोलाजी का इस्तेमाल किया जाएगा। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस माध्यम से आगंतुकों को इतिहास और उसके महत्व के बारे में बताया जाएगा। संग्रहालय में एक लघु प्रेक्षागृह, योग और ध्यान कक्ष, कैफेटेरिया के अलावा डारमेट्री, कॉन्फ्रेंस हाल व पार्किंग, सोविनियर शॉप भी बनेगा।

गौरव संग्रहालय में डिजिटल माध्यम से दी जाएगी ये जानकारी

-गोरखपुर (Gorakhpur) का इतिहास
-आजादी की लड़ाई में गोरखपुर (Gorakhpur) का योगदान
-गोरखपुर के विकास में नाथ पंथ की भूमिका
-गोरखनाथ मंदिर का खिचड़ी मेला
-गोरखपुर और आस-पास के क्षेत्र के प्रमुख त्योहार
-उन्हें मनाने की विशिष्ट परंपरा
-गोरखपुर का समृद्ध सांस्कृतिक इतिहास
-प्राचीन धरोहर, क्षेत्रीय कलाकृतियों की जानकारी

गोरखपुर (Gorakhpur) में बनेगा स्टेट होटल प्रबंधन संस्थान

राज्य सरकार ने गोरखपुर में छह एकड़ में स्टेट होटल प्रबंधन संस्थान की स्थापना का भी निर्णय लिया है। इस सिलसिले में भूमि का चयन हो चुका है। संस्थान में होटल प्रबंधन पाठ्यक्रमों के साथ फ़ूड क्राफ्ट के आधुनिक पाठ्यक्रम भी होंगे।

ये भी कार्य होंगे

-अमेठी में बाबा गोरखनाथ की तपोस्थली का सौंदर्यीकरण
-मीठे पानी के प्राचीन कुएं का होगा संरक्षण
-गंगा नदी पर ओल्ड कर्जन ब्रिज गंगा गैलरी के रूप में विकसित होगी
-भारत की नदी संस्कृति पर आधारित नदी संग्रहालय का विकास होगा
-नैमिषारण्य चक्रतीर्थ का जीर्णाेद्धार होगा
-दधीचि कुण्ड की ओर का मार्ग मार्ग बनेगा
-मां ललिता देवी मंदिर का सुंदरीकरण होगा
-नैमिषधाम के परिक्रमा पथ का विकास होगा

यूपी में बनेगा ईको टूरिज्म बोर्ड, करेगा ये काम

अखिलेश यादव: नहीं टिकते सियासी रिश्ते, गठबंधन की उम्र को लेकर समर्थकों में है ये संशय

वायरलेस कीबोर्ड सही है या वायर्ड कीबोर्ड?

जानिए क्यों मनायी जाती है देवशयनी एकादशी, क्या हैं मान्यताएं, ये है पूजा का शुभ मूहुर्त, नियम, विधि और सामग्री ​की लिस्ट

साधना गुप्ता का पिपराघाट पर हुआ अंतिम संस्कार-बेटे प्रतीक ने दी मुखाग्नि, मुलायम सिंह भी पहुंचे

Mulayam Singh Yadav की पत्नी साधना का अंतिम संस्कार पिपरा घाट पर आज, घर पर पार्थिव शरीर के अंतिम दर्शन को जुटी भीड़

Live Update: साधना गुप्ता के पार्थिव शरीर का दर्शन करने पहुंचेंगे सीएम योगी, पिपरा घाट पर होगा अंतिम संस्कार

ये है मुलायम सिंह यादव की साधना गुप्ता से दूसरी शादी की कहानी, जानिए कैसे पहुंची सपा संस्था