गनमैन के साथ Moosewala के पीछे बुलेटप्रूफ गाड़ी लेकर गए थे पिता बलकौर सिंह, हमलावरों को गाड़ी पर बरसाते देखीं गोलियां

पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला (Moosewala) रविवार को जब अपने दो दोस्तों के साथ बिना सुरक्षा व्यवस्था के घर से निकले थे तो उनके पिता बलकौर सिंह अपने बेटे की जान पर खतरे को देखते हुए उनके पीछे एक बंदूकधारी के साथ बुलेट प्रूफ गाड़ी से गए थे। इसी दरम्यान उन्होंने देखा कि अज्ञात लोगों ने उनके 27 वर्षीय बेटे की गाड़ी पर अंधाधुंध गोलियां बरसाई।

moosewala

 

निजी वाहन से निकल पड़ा था Moosewala

स्थानीय मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मूसेवाला (Moosewala) को लॉरेंस बिश्नोई व अन्य गिरोहों से धमकियां मिल रही थी। उसके बावजूद वह बुलेटप्रूफ एसयूवी या टोयोटा फॉर्च्यूनर के बजाय निजी वाहन से ही निकल पड़ा। उनके पिता को जब यह पता चला तो वह एक गार्ड के साथ उनकी गाड़ी के पीछे गए। एक गावं के पास उन्होंने एक कोरोला कार देखी, जिसमें चार लोग मूसेवाला के वाहन का पीछा कर रहे थे। उस समय उनकी कार बहुत पीछे थी।

बरनाला मोड़ पर पहले से खड़ी थी गाड़ी

जब मूसेवाला (Moosewala) की गाड़ी बरनाला की ओर मुड़ी तो वहां चार लोगों के साथ एक बोलेरो गाड़ी पहले से ही खड़ी थी। दर्ज कराए गए एफआईआर में कहा गया है कि वाहन उनके बेटे की कार के सामने रूक गया और कोरोला व बोलेरो में सवार लोगों ने उनके बेटे पर अंधाधुंध गोलियां चलानी शुरू कर दीं, बाद में हमलावर बरनाला की ओर भाग गए। उनके पिता मनसा में दमकल विभाग में काम करते हैं। उनके मुताबिक यह घटना 5:00 बजे से 5:15 बचे के बीच घटी।

मूसेवाला को कई गोलियां लगीं। जिन्हें कुछ स्थानीय लोगों की मदद से सिविल अस्पताल ले जाया गया। पर उन्हें बचाया नहीं जा सका। सीसीटीवी फुटेज में मूसेवाला की गाड़ी के पीछे एक कार भी रिकॉर्ड हो गई। एक चश्मदीद का कहना है कि वह मनसा-बुधलाढा रोड के मोड़ पर खड़ा था। यह 90 डिग्री का तेज मोड़ है और वाहनों को मुड़ने के लिए धीमा करना पड़ता है। चश्मदीद को इस बात की जानकारी नहीं थी कि सिद्धू मूसेवाला (Moosewala) कार में थे। पीछे से एक सफेद कार आगे बढ़ी और सामने से फायर कर दिया। वह मौके से भाग गए। वहाँ कुछ और लोग खड़े थे और वे भी भाग गए।

आपको बता दें कि मूसेवाला (Moosewala)की हत्या के कुछ घंटों बाद कथित तौर पर विश्नोई गिरोह के सदस्य कनाडा के गोल्डी बराड़ ने हत्या की जिम्मेदारी लेते हुए एक फेसबुक पोस्ट डाला था और आरोप लगाया था कि पुलिस ने गायक के खिलाफ विक्की मिड्दुखेड़ा की हत्या के केस में कार्रवाई नहीं की।