India Russia China: संयुक्त सैन्याभास Vostok में शामिल होने पर अमेरिका का रूख

India Russia China: संयुक्त सैन्याभास Vostok में शामिल होने पर अमेरिका का रूख

India Russia China Military Drill: चीन रूस के वार्षिक सैन्य अभ्यास वोस्तोक (Vostok) में शामिल हो रहा है। चीन के रक्षा मंत्रालय के अनुसार मिलिट्री ड्रील में उसका शामिल होना, रूस के साथ द्विपक्षीय सहयोग समझौते का हिस्सा है। चीनी सैनिक इस संयुक्त सैन्य अभ्यास में शामिल होने के लिए रूस जाएंगे। भारत, बेलारूस, मंगोलिया, ताजिकिस्तान और अन्य देश भी इसमें भाग लेंगे।

चीन और रूस के बीच बढ़ते संबंधों ने वैश्विक सुरक्षा को कमजोर कर दिया 

अमेरिका के विदेश विभाग के प्रवक्ता नेड प्राइस ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा (America stand on India Russia China military drill ) कि चीन और रूस के बीच बढ़ते संबंधों ने वैश्विक सुरक्षा को कमजोर कर दिया है। संयुक्त सैन्य अभ्यास में शामिल होने वाले अधिकांश नियमित रूप से संयुक्त राज्य अमेरिका के साथ सैन्य अभ्यास की एक विस्तृत श्रृंखला में भाग लेते हैं।

बीजिंग और मॉस्को के करीबी रक्षा संबंध

उधर चीन का कहना है कि बीजिंग और मॉस्को के करीबी रक्षा संबंध हैं। वह द्विपक्षीय संबंधों को उच्च स्तर पर आगे बढ़ाना चाहता है। वार्षिक वोस्तोक अभ्यास 30 अगस्त से 5 सितंबर तक होगा। यह रूस के साथ द्विपक्षीय सहयोग समझौते का हिस्सा है। सैन्य अभ्यास का मकसद इसमें शामिल होने वाले देशों की सेनाओं के साथ व्यावहारिक व मैत्रीपूर्ण सहयोग को बढाना है, रणनीतिक सहयोग स्तर बढ़ाने के साथ विभिन्न सुरक्षा खतरों का जवाब देने की क्षमता मजबूत करना है।

संयुक्त अभ्यास मौजूदा अंतरराष्ट्रीय और क्षेत्रीय स्थिति से असंबंधित

बीजिंग ने जोर देकर कहा कि संयुक्त अभ्यास में उसकी भागीदारी मौजूदा अंतरराष्ट्रीय और क्षेत्रीय स्थिति से असंबंधित है। यह इस साल चीनी और रूसी सैनिकों द्वारा आयोजित दूसरा संयुक्त सैन्य अभ्यास है। दोनों देशों की सेनाओं ने मई में जापान-दक्षिण कोरिया के नजदीक 13 घंटे का अभ्यास भी किया था।

50,000 से अधिक सैनिक और सैन्य उपकरण

रूस चीन और भारत के साथ प्रमुख सैन्य अभ्यास (India Russia China) कर रहा है। यूक्रेन पर आक्रमण के बाद रूस को दुनिया भर में अलग थलग करने के अमेरिका और उसके सहयोगियों के प्रयासों से बचाव को रूस की तरफ से यह कदम उठाया गया है। 140 से अधिक विमानों और 60 युद्धपोतों सहित 50,000 से अधिक सैनिकों और सैन्य उपकरणों के 5,000 पीस, रूस के सुदूर पूर्व में गुरुवार से शुरू होने वाले सप्ताह भर चलने वाले वोस्तोक-2022 युद्ध खेलों में भाग लेने वाले हैं, जिसमें समुद्र में नौसैनिक अभ्यास भी शामिल है।

Akhilesh Yadav Latest News: अखिलेश यादव का योगी सरकार पर हमला, साम्प्रदायिकता को लेकर कही ये बड़ी बात

रिलीजन या पंथ मजहब धर्म नहीं हैं, वे विश्वास हैं, विश्वासों पर प्रश्न संभव नहीं

Stock Market Live News Update Today: क्यों गिर रहा है शेयर मार्केट ?

Reliance Campa Cola Deal:  लोकप्रिय शीतल पेय ब्रांड कैंपा कोला को बाजार में लाएगी रिलायंस, अंबानी ने प्योर ग्रुप से खरीदा पुराना ब्रांड

UP के सबसे पावरफुल ब्यू‍रोक्रेट IAS Awanish Awasthi के रिटायर होते ही IAS अफसरों की तैनाती में बड़ा फेरबदल