5 हजार प्रधानमंत्री आवास योजना के मकान को मिली मंजूरी

5 हजार प्रधानमंत्री आवास योजना के मकान को मिली मंजूरी

लखनऊ विकास प्राधिकरण अब शहर के बीच में प्रधानमंत्री आवास योजना के मकान बनाएगा। इसके लिए जमीन की तलाश तेज कर दी है। कुछ स्थानों पर जमीन भी मिल गई है। विश्वविद्यालय रोड पर जहां मकानों के निर्माण की मंजूरी मिल गई है वहीं ऐशबाग में जमीन का सर्वे शुरू करा दिया गया है। अन्य इलाकों में दूसरे विभागों की भी सरकारी जमीने तलाशी जा रही हैं। शहर के बीच में करीब 5000 मकान बनाने की तैयारी है।

यह भी पढ़ें : स्टाफ नर्स शॉल खरीदने में व्यस्त, मरीज की उखड़ने लगी साँस

राजधानी में प्रधानमंत्री आवास योजना के मकानों का निर्माण एलडीए और तेज कराने जा रहा है। अभी तक उसके 4512 मकान बनकर तैयार हुए हैं। जबकि इतने ही मकानों का टेंडर बसंत कुंज योजना में कराया गया है। अभी तक जो मकान बनाए गए हैं या फिर बनाए जा रहे हैं वह सभी शहर के बाहर हैं। इनकी दूरी काफी ज्यादा है। लेकिन अब जो मकान बनाए जाएंगे वह शहर के भीतर होंगे। ज्यादातर मकान प्राइम लोकेशन पर बनाए जाएंगे। इससे आने वाले दिनों में इनकी डिमांड भी बहुत होगी।

यह भी पढ़ें : विद्यालय में गरीब बच्चों का एडमिशन प्राथमिकता पर हो-मण्डलायुक्त

ऐशबाग में प्रधानमंत्री आवास योजना के मकानों के निर्माण की कवायद शुरू की जा रही है। इसके लिए यहां टोटल स्टेशन सर्वे कराया जा रहा है। प्राधिकरण के अधिशासी अभियंता प्रताप शंकर मिश्रा ने इस संबंध में निर्देश जारी किया है। उन्होंने निजी कंपनी पीसीएस मैनेजमेंट को इसकी जिम्मेदारी दी है। इसके लिए जारी पत्र में उन्होंने लिखा है कि यहां प्रधानमंत्री आवास योजना के मकानों का नियोजन किया जाना है। लिहाजा शीघ्र सर्वे कर रिपोर्ट प्रस्तुत करें। अकेले यहां 2000 प्रधानमंत्री आवास योजना के मकान बनाए जाने की तैयारी है।

यह भी पढ़ें : प्रधानमंत्री ने जनपद महोबा में विभिन्न परियोजनाओं का किया लोकार्पण

लखनऊ विश्वविद्यालय के पास हनुमान सेतु के निकट एलडीए ने भू माफिया से काफी जमीन खाली कराई थी। इस जमीन की कीमत 50 करोड़ से अधिक बनाया बताई जा रही है। अब इस जमीन पर भी प्रधानमंत्री आवास योजना की मंजूरी मिल गई।

यह भी पढ़ें : चुनावी मंथन से पूर्व आईना की कलमकारों को बूस्टर डोज़ की सौगात

लखनऊ विकास प्राधिकरण शहर के भीतर अन्य विभागों की रिक्त जमीनें भी तलाश रहा है। ग्रीन कारिडोर के लिए जमीन तलाशी जा रही है। इसी के साथ पीएम आवास योजना के मकान के लिए भी जमीन देखी जा रही है। सिंचाई विभाग, लोक निर्माण विभाग, नगर निगम, समाज कल्याण सहित कई अन्य विभागों की भी जमीनें देखी जा रही हैं। विभागों की काफी जमीनें अभी शहर के बीच में हैं। मिलने पर यहां भी एलडीए प्रधानमंत्री आवास योजना के मकान बनाएगा।