सीरियल किलर सोहराब होटल में बिरयानी खाते पकड़ा गया

लखनऊ। सीरियल किलर भाइयों की तिकड़ी में से एक सोहराब को दिल्ली पुलिस लखनऊ के ऐशबाग स्थित श्री होटल में बुधवार रात मौज-मस्ती करा रही थी। इसी बीच एएसपी पश्चिम विकास चंद्र त्रिपाठी और उनकी टीम ने होटल में छापा मारकर उसे रंगेहाथ दबोच लिया। होटल के कमरे में आरोपित सोहराब की पत्नी सन्नो, बहन यासमीन व अन्य मौजूद थे। पुलिस ने सोहराब, उसकी पत्‍नी, बहन, होटल के मैनेजर और दिल्ली के छह पुलिसकर्मियों के खिलाफ एफआइआर दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया है। सोहराब का भाई रुस्तम भी कानपुर पेशी पर आया था, लेकिन बुधवार देर रात तक उसकी लोकेशन का पता नहीं चल सका।

कानपुर में बुधवार को सोहराब की एक मामले में पेशी थी। दिल्ली पुलिस उसे वहां लेकर गई थी। गुरुवार को राजधानी के गैंगेस्टर कोर्ट में उसे पेश करना था, जिस कारण पुलिस टीम बुधवार को दिन में ही लखनऊ आ गई। इसके बाद स्थानीय पुलिस को सूचना दिए बिना दिल्ली पुलिस ने सोहराब को ऐशबाग स्थित श्री होटल में ठहरा दिया। यहां पर सोहराब ने अपने घरवालों से बात की और उन्हें होटल बुला लिया।

 

एएसपी पश्चिम विकास चंद्र त्रिपाठी के मुताबिक, कानपुर पुलिस के सहयोग से काफी समय से स्थानीय पुलिस आरोपित सगे भाइयों की गतिविधियों पर नजर रख रही थी। देर शाम पुलिस को सोहराब के होटल में होने की जानकारी मिली, जिसके बाद वहां छापामारी की गई थी। कमरे में सोहराब बिरयानी खा रहा था। शुरुआत में आरोपित के घरवालों ने पुलिस टीम का विरोध किया लेकिन, सख्ती देख शांत हो गए।

श्री होटल के कमरा नंबर 201, 202 और 206 बुक किए गए थे। इसे चारबाग का स्टैंड संचालक सोनू रावत ने बुक कराया था। कमरा नंबर 206 में सोहराब ठहरा था। वहीं, दो अन्य कमरों में दिल्ली के छह पुलिसकर्मी मौजूद थे। यूपी पुलिस ने दिल्ली पुलिस के उच्चाधिकारियों को मामले की जानकारी दे दी है। सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की तलवार लटक रही है।