बैंक घोटाले ने लील ली छठी जिंदगी

मुंबई. पंजाब एंड महाराष्ट्र बैंक (PMC Bank) घोटाला के सामने आने के बाद से इसके खाताधारकों की मौत का सिलसिला थम नहीं रहा है। ताजा मामले में बैंक के एक और खाता धारक की मौत हो गई है। घोटाला सामने आने के बाद से इस बैंक के किसी खाताधारक की ये छठी मौत है। जानकारी के मुताबिक केशुमल हिंदुजा नाम के पीएमसी बैंक के खाता धारक पैसे फंसे होने की वजह से तनाव में थे। समझा जा रहा है कि इसी कारण उन्हें दिल का दौरा पड़ा और इससे मौत हो गई।

बताया जा रहा है कि केशुमल हिंदुजा के लाखों रुपए पीएमसी बैंक में फंसे हुए थे। वो इन पैसों को निकाल नहीं पा रहे थे। केशुमल बीमार थे और इलाज के लिए उनके पास पैसे नहीं थे। बता दें कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने बीते लगभग 40 दिनों से पीएमसी बैंक से पैसे की निकासी पर आंशिक रोक लगा रखी है। इसके तहत खाता धारक अपने अकाउंट से एक तयशुदा राशि से ज्यादा पैसे नहीं निकाल सकते।

बैंक के 16 हजार खाता धारक परेशान

पीएमसी बैंक में लगभग 16 हजार खाता धारक हैं। आरबीआई के सख्त रूख के बाद उन्हें इस बात की चिंता सता रही है कि बैंक में उनका पैसा सुरक्षित है या नहीं। इस कारण लोगों को तमाम परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। पहले से बीमार लोगों की हालत और खराब हो गई है। हालांकि खाता धारकों की मौत और पैसे की निकासी पर अभी तक आरबीआआई की तरफ से कोई बयान नहीं आया है।

पहले पांच लोगों की जा चुकी है जान

इससे पहले बीते 21 अक्टूबर को सदरंगनी नाम की एक बुजुर्ग खाता धारक महिला की हार्ट अटैक से मौत हो गई थी। इसके अलावा फट्टोमल पंजाबी और संजय गुलाटी की भी हार्ट अटैक से मौत की बात सामने आई थी। वहीं मुंबई के वर्सोवा इलाके में रहने वाली 39 वर्षीय महिला डॉक्टर, जिनका PMC बैंक में खाता है, उनके भी आत्महत्या का मामला सामने आया था। वहीं मुरलीधर ढर्रा नाम के एक 83 वर्षीय बुजुर्ग की मौत की भी खबर सामने आई थी।