जनसेवा केंद्र उपलब्ध कराएंगे किसानों को खाद व बीज- दिनेश त्यागी

     रायबरेली। सूचना एवं प्रोद्योगिकी मंत्रालय भारत सरकार व सीएससी ई-गवर्नन्श इंडिया ने जिले मे डिजिटल खेती का रास्ता डिजिटल सेवा केन्द्रों के माध्यम से खोल दिया है, किसान अब उन्नत खेती करेंगे, जिस प्रकार व्यक्ति अपने शरीर की जांच कराके आवश्यक पोषक तत्व लेते है ठीक उसी प्रकार अब किसान भी बहुत आसानी से अपने खेत की मिट्टी की जांच अपने निकटतम जनसेवा केंद्र पीआर जाकर करा सकते हैं। उसी के अनुरूप उर्वरक, जैविक खाद का प्रयोग करके अपनी फसल का उत्पादन बढ़ा सकते हैं, उक्त उद्गार सीएससी ई-गवर्नेंश के सीईओ डॉ दिनेश त्यागी ने “इफको उर्वरक केंद्र” के शुभारंभ के अवसर पर जनसेवा फ़ाउंडेशन दरियापुर चौराहा मुंशीगंज रायबरेली मे काही, आने वाले समय मे डिजिटल सिपाही भारत सरकार व प्रदेश सरकार की की सेवाएँ जनमानस तक पहुंचाएंगे। जिले मे सरकारी सेवाओं से लोगो को अधिक से अधिक लाभान्वित कराने वाले वीएलई को प्रशस्ति पत्र दे कर सम्मानित किया और उनका उत्साहवर्धन किया।

      इफको फर्टिलाजर से आए जिला प्रबन्धक प्रदीप कुमार यादव ने कहा की किसान भाई किसानी के पुराने तरीके तरीके छोड़ कर नए तरीकों से तकनीकी खेती को अपनाएं और केमिकल उर्वरक का कम से कम प्रयोग करें, जैविक खाद का अधिक प्रयोग करके खेत को सेहतमंद बना फसल की उत्पादन क्षमता को बढ़ा सकते हैं। इफको खेत की मिट्टी की जांच निशुल्क करता है।

      एचडीएफ़सी बैंक के स्टेट हेड वैभव टंडन व पवन कुमार ने कहा की अब आने वाले समय मे हर सीएससी हमारी बैंक का हिस्सा होगा जहां बैंक की सभी सेवाएँ मिलेंगी, किसान खाद के लिए बैंक से लोन भी ले सकेंगे।

      जनसेवा फ़ाउंडेशन के जिला सचिव बृजेश सिंह व जिला अध्यक्ष नीरजमौर्य ने आए हुये अतिथियों का माल्यार्पण कर किया। कार्यक्रम का संयोजन वाईफाई चौपाल से जिला प्रबन्धक जितेंद्र सिंह, सीएससी जिला प्रबन्धक अभय शंकर दुबे, रोहित कुशवाहा, शरद ने किया, संचालन का करी सौरभ सिंह व महेंद्र कुमार ने किया।

      इस अवसर पर सीएससी स्टेट हेड अतुलित राय, कृषि विज्ञान केंद्र से कनौजिया जी, शैलेश, विष्णु सोनी, राम अचल, विवेक सिंह, दीपेश, पंकज, सुजीत, प्रेमचन्द्र, अमित, नीरज सिंह, अंशुमन पाठक, दीपा, रीना, रिचा, अंकिता, आरती, विनीता सहित काफी संख्या मे जनसेवा केंद्र संचालक उपस्थित रहे, कार्यक्रम का समापन जिला कोशाध्यक्ष गणेश प्रताप सिंह ने सभी का आभार जताया व किसानो को उन्नत खेती करने का आग्रह किया।