उत्तर प्रदेश के विकास को कही बदहज़मी न हो जाये

सुशासन, विकास और विश्वास का प्रतीक है योगी सरकार

[dropcap]तीज[/dropcap] त्योहार भी अगर जल्दी जल्दी आते हैं तो ऐसे मौके पर आदतन थोड़ा थोड़ा खाने पर भी ज़रूरत से ज़्यादा हो जाता है और इंसान बदहज़मी का शीकार हो जाता है। उत्तर प्रदेश में माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के अथक प्रयासों से जो विकास की अविरल गंगा बही है उसको अगर रोक नही गया तो उत्तर प्रदेश का विकास भी बदहज़मी का शीकार हो सकता है। 2017 में उत्तर प्रदेश की बागडोर अपने हाथ मे लेने के बाद माननीय योगी जी ने उत्तर प्रदेश के चहुंमुखी विकास को धरातल पर जो दिशा दी है वो अब समतल सड़को के रास्ते गुज़र कर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के आसमान पर डिफेंस एक्सपो के माध्यम से हेलीकाप्टर में उड़ान भरते साफ साफ नजर आ रहा है।

उत्तर प्रदेश इन्वेस्टर्स समिट 2018, 2019 और अब डिफेंस एक्सपो 2020 ने उत्तर प्रदेश के चहुमुँखीं विकास को प्रदेश की जनता तक अगर सुगमता से लाभ पहुंचाया है तो इसका श्रेय सिर्फ और सिर्फ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को ही जाता है। जहां लोकप्रियता बढ़ेगी वहां विपक्ष में जलन, द्वेष का होना स्वाभाविक भी है, दुनिया के महान वैज्ञानिक न्यूटन का सिद्धांत भी यहीं है,, “हर क्रिया की बराबर और विपरीत प्रतिक्रिया होती”, चंद विधायकों के विद्रोह की जो आवाज़ विधानसभा सत्र के दौरान उठी थी वो डिफेंस एक्सपो की शानदार सफलता में अपने आप ही खत्म होती दिखाई दे गई और चहुमुँखीं विकास के आगे अपराधों का बढ़ना भी न्यूटन के सिद्धांत को दर्शाता है,, विकास के रास्ते बढ़ेंगे तो अपराध बढ़ना स्वाभाविक है लेकिन रोकथाम के लिए पुलिस कमिशनरी व्यवस्था लागू कर मुख्यमंत्री योगी जी ने उत्तर प्रदेश में एक नया इतिहास बना दिया है जिसका असर राजधानी की सड़कों पर दिखाई दे रहा है। रात के काले अंधेरे में अपराधियों के हौसले पस्त हो चुके है और जो दिन के उजाले में वारदात हो रही हैं उनपर कमिशनरी व्यवस्था में जल्द ही अंकुश लगाने की योजना बन रही है।

योगी जी की लोकप्रियता हर गुज़रते दिन के साथ और भी बढ़ती जा रही है, एक मीडिया संस्थान द्वारा उन्हें मुख्यमंत्री की लोकप्रियता में देश के पहले पायदान पर खड़ा कर दिया है। ऐसा नही है कि मीडिया समूह द्वारा किसी लोभ लालच में ऐसा किया गया है, ये योगीजी द्वारा निरंतर किये जा रहे कार्यों, प्रयासों का नतीजा है कि सुशासन, विकास और विश्वास का प्रतीक बनकर योगी सरकार ने यूपी की 23 करोड़ जनता का विश्वास जीता है और भारत देश मे लोकप्रियता के पहले पायदान पर अपना परचम लहराया है। अयोध्या में पांच लाख 51 हजार दीये जलाकर योगी सरकार अपना ही वर्ल्ड रिकॉर्ड तोड़कर उत्तर प्रदेश के विकास को दुनिया के सामने जगमगाने का।काम भी किया है।

5,43,000 करोड़ का निवेश मात्र तीन साल में

जहां उत्तर प्रदेश में अन्य राजनीतिक दलों की सरकार में विकास मेट्रो की रफ्तार भी नही पकड़ पाया था, एक्सप्रेसवे पर दम तोड़ता नज़र आ रहा था। योगी सरकार में इतनी जल्दी जल्दी विकास की नदियां बह रही है,, हर साल लाखों करोड़ों का निवेश हो रहा है, लाखों लोगों को रोजगार मिल रहा है, ऐसा न हो कि उत्तर प्रदेश के विकास को बदहज़मी हो जाये, इसलिए जरूरी है पहले विगत तीन वर्ष में किये गए विकास को प्रदेश की जनता पचा लें फिर कोई नए विकास की गंगा बहाई जाए।। जय हो !!2017 में उत्तर प्रदेश का नेतृत्व संभालने के बाद उत्तर प्रदेश की आर्थिक व्यवस्था को नई दिशा देने के लिए माननीय मुख्यमंत्री के कुशल नेतृत्व में इंवेस्टिर्स समिट 2018 का आयोजन किया गया जिसे देश के प्रधानमंत्री ने उदघाटन करते हुए कहा कि UP देश का ग्रोथ इंजन है और इस समिट से 2.5 लाख लोगों को मिलेगा रोजगार। यूपी के 60 प्रतिशत लोग वर्किंग एज ग्रुप में हैं और ये ग्रुप ही प्रदेश को विकास के पथ पर ले जाएगा। यूपी में सुपरहिट परफॉर्मेंस देने के लिए योगी की टीम तैयार है, हम यूपी में ऐसा इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार करेंगे जो कि उत्तर प्रदेश को 21वीं सदी में नई बुलंदियों तक ले जाएगा। 21 वीं सदी के लिए अग्रसर उत्तर प्रदेश को एक और बड़ा मौका मिला जब 2019 में दूसरी ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी का आयोजन किय गया और देश के गृह मंत्री अमित शाह ने भी सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ की तारीफ करते हुए कहा ‘योगी के पास प्रशासनिक अनुभव नहीं था।इनके चयन पर लोगों को आश्चर्य हुआ। हमने और मोदी जी ने निष्ठा और परिश्रम दो मानक पर योगीजी के हाथ मे यूपी का भाग्य सौंप दिया और आज वहीं निष्ठा और परिश्रम डिफेंस एक्सपो 2020 के सफल आयोजन में झलकता नज़र आ रहा है । 2018 और 2019 के इन दो शिलान्यास समारोह में 371 निवेश परियोजनाएं प्रदेश में स्थापित होनी थी जिसमें प्रदेश के 75 में से करीब 50 से अधिक जिलों में एक या एक से अधिक औद्योगिक इकाइयां स्थापित होने का प्रावधान था। 50 से अधिक जिलों में मात्र दो साल में जहां ज़बरदस्त विकास हुआ वहीं लाखों लोगों को रोजगार भी मिला, बड़े उद्योग, फैक्ट्री, कारखानों के लगने के बाद से उत्तर प्रदेश अपने विकास की गति पकड़ चुका था लेकिन माननीय मुख्यमंत्री जी और भी ऊंचाइयों पर प्रदेश के विकास को ले जाना चाहते थे इसलिए डिफेंस एक्सपो के माध्यम से लगभग 3 लाख लोगों के लिए रोज़गार के रास्ते खोल दिये और लगभग 50000 करोड़ के निवेश को हरी झंडी दिखा दी।। 2017 से 2019 तक, मात्र तीन साल में 5 लाख करोड़ के ऊपर निवेश उत्तर प्रदेश में होना, लाखों लोगों को रोजगार मिलना ये योगी जी के कुशल नेतृत्व, निष्ठा और परिश्रम का ही नतीजा है।

जहां उत्तर प्रदेश में अन्य राजनीतिक दलों की सरकार में विकास मेट्रो की रफ्तार भी नही पकड़ पाया था, एक्सप्रेसवे पर दम तोड़ता नज़र आ रहा था। योगी सरकार में इतनी जल्दी जल्दी विकास की नदियां बह रही है,, हर साल लाखों करोड़ों का निवेश हो रहा है, लाखों लोगों को रोजगार मिल रहा है, ऐसा न हो कि उत्तर प्रदेश के विकास को बदहज़मी हो जाये, इसलिए जरूरी है पहले विगत तीन वर्ष में किये गए विकास को प्रदेश की जनता पचा लें फिर कोई नए विकास की गंगा बहाई जाए।। जय हो !!

डॉ मोहम्मद कामरान