अंतर्राष्‍ट्रीय बालिका दिवस 2019: कन्‍याओं को बचाने के लिए भारत की सरकारी योजनाएं

भविष्‍य में देश के विकास के लिए कन्‍याओं का बड़ा योगदान रहेगा। विज्ञान, टेक्‍नोलॉजी, खेल और व्‍यापार के क्षेत्र में लड़कियां अपना अभूतपूर्व योगदान दे रही हैं। हालांकि, भारत में लड़कों की तुलना में लड़कियों की संख्‍या अभी भी कम है।

संपूर्ण देश के विकास में प्रत्‍येक बच्‍ची का विकास भी जरूरी है और इसी उद्देश्‍य से भारत सरकार ने राज्‍य सरकार के साथ मिलकर बालिकाओं के विकास के लिए कई योजनाएं शुरु की हैं। ये सरकारी योजनाएं लड़कियों को शिक्षित और सशक्‍त करने में मदद करेंगीं। आइए जानते हैं इस‍ दिशा में केंद्र और राज्‍य सरकार द्वारा शुरू की गई योजनाओं के बारे में।

सरकारी योजनाएं

बालिका समृद्धि योजना

15 अगस्‍त, 1947 को बालिका समृद्धि योजना शुरु की गई थी। इसके तहत 15 अगस्‍त 1947 तक और इसके बाद गरीबी रेखा के नीचे आने वाली सभी बालिकाओं को शामिल किया गया है। इस स्‍कीम का उद्देश्‍य गरीब लड़कियों को स्‍कूल जाने और 18 साल की उम्र तक शादी ना करने के लिए आर्थिक मदद दी जाती है। एक परिवार में से केवल एक कन्‍या ही इस योजना का लाभ उठा सकती है।

लाभ

जन्‍म के दौरान 500 रुपए और फिर दसवीं कक्षा तक हर साल कुछ धनराशि जमा करना।

कक्षा 3 तक : प्रति वर्ष 300 रुपए

कक्षा 4: प्रति वर्ष 500 रुपए

कक्षा 5: प्रति वर्ष 600 रुपए

कक्षा 6 और 7: प्रति वर्ष 700 रुपए

कक्षा 8: प्रति वर्ष 800 रुपए

कक्षा 9 और 10: प्रति वर्ष 1000 रुपए