चोरी हो गई एसओजी की बोलेरो, गाड़ी में सो रहे दारोगा को भी नहीं लगी भनक

दूसरे की चोरी गई गाड़ियों का पता लगाने वाली देवरिया एसओजी की बोलेरो को वाहन लिफ्टर कोतवाली परिसर स्थित उसके कार्यालय के सामने से उड़ा ले गए। गाड़ी चोरी होने की जानकारी एसओजी प्रभारी ने पुलिस अधीक्षक को दी। पुलिस केस दर्ज कर वाहन लिफ्टरों की तलाश में जुटी है। पुलिस ने कोतवाली के आसपास के सीसी टीवी कैमरों को भी खंगाला है।
जिले में अपराध को कंट्रोल करने की विशेष जिम्मेदारी स्पेशल आपरेशन ग्रुप पर होती है। जिले में इसका कार्यालय सदर कोतवाली परिसर में है। रविवार की रात टीम के सदस्य अपनी बोलेरो कार्यालय के बाहर खड़ी कर चले गए। इसी दौरान देर रात वाहन लिफ्टर एसओजी की बोलेरो को उड़ा ले गए। सुबह एसओजी टीम के कुछ जवान पहुंचे तो बोलेरो गायब मिली। वे एक दूसरे से गाड़ी के बारे में पता करने लगे। जब गाड़ी का कहीं पता नहीं चला तो एसओजी के प्रभारी घनश्याम सिंह ने इसकी जानकारी एसपी डॉ. श्रीपति मिश्र को दी।
एसपी ने मामले की गंभीरता को देखते हुए टीम को कोतवाली में गाड़ी चोरी का मुकदमा दर्ज कराने का निर्देश दिया। अब सदर कोतवाली पुलिस केस दर्ज कर बोलेरो की तलाश में जुटी है। अपनी इज्जत बचाने के लिए एसओजी भी लगातार हाथ-पांव मार रही है। सूत्रों की मानें तो रविवार की देर शाम कुशीनगर जनपद से तबादला होकर आए एक एसआई रात में उसी बोलेरो में सोए थे। देर रात कुछ लोग आए और उन्हें दूसरी जगह सोने की बात कह बोलेरो लेकर चले गए। अब एसआई का कहना है कि वह वाहन लिफ्टरों को एसओजी का सदस्य समझ दूसरी जगह सोने चले गए। अभी वह अपना आमद भी नहीं करा पाए थे। जिले में नया होने की वजह से किसी को पहचान न सके।

Show More

Related Articles