मातृशक्ति की रक्षा हम सभी का धर्म : रेणुका मिश्रा एडीजी

लखनऊ। सरकार के मिशन शक्ति कार्यक्रम के तहत बीकेटी के ब्लॉक सभागार में महिला सुरक्षा एवं स्वावलंबन नामक कार्यक्रम का आयोजन अमरन फाउंडेशन और फिक्की फ्लो के सहयोग से आयोजित किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रेणुका मिश्रा एडीजी पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नत बोर्ड थीं।

यह भी पढ़ें : भारत की मीडिया जो खुद को चौथा स्तंभ कहती है

यह भी पढ़ें : बच्चों को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करना आवश्यक : प्रिया प्रकाश

कार्यक्रम की शुरुआत दीप प्रज्वलन के साथ हुई सर्वप्रथम कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अमरन फाउंडेशन की अध्यक्ष रेणुका टंडन ने कहा कि उनकी संस्था की एक यूनिट “एमरन दक्षपीठ महिला स्वयं सहायता समूह” नागवामऊ BKT में उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा चलाए जा रहे हैं “मिशन शक्ति” को एक व्यापक अभियान के साथ अपने गाँव के माध्यम से महिलाओं के कल्याण और उन्हें स्वावलंबी बनाने की दिशा में मदद करने के लिए जो भी संभव हो, उत्साहपूर्वक भाग लेने के लिए आगे आने में काफी गर्व महसूस करती है।

यह भी पढ़ें : दान उत्सव हलवासिया कोर्ट में संपन्न

आज हम महिलाओं की सुरक्षा के उपाय सुनिश्चित करने के लिए और क्षेत्र की महिलाओं के लिए पुलिस अवसरों के साथ महिला सुरक्षा पर एक सत्र का आयोजन किया गया है जिसका लाभ उपस्थित सभी महिलाओं के माध्यम से समाज में दूर-दूर तक जाएगा।

यह भी पढ़ें : मुख्यमंत्री ने कोविड-19 पर प्रभावी नियन्त्रण के लिए प्रोएक्टिव होकर कार्य करने पर बल दिया

यह भी पढ़ें : भारत की मीडिया जो खुद को चौथा स्तंभ कहती है

उन्होंने कहा कि समय आ गया है कि हर लड़की को दुर्गा का रूप लेना पड़ेगा अपनी हिफ़ाज़त खुद करनी पड़ेगी और सरकार को घरेलू हिंसा और बलात्कार का क़ानून सख़्त से सख़्त बनाना पड़ेगा आज के दौर में जो लोग नारी गरिमा और स्वाभिमान को दुष्प्रभावित करने की कोशिश करेंते है बेटियों पर बुरी नजर डालते हैं उनके लिए हमारे समाज मे कोई जगह नहीं होनी चाहिए ।हम लोग सभ्य समाज को कलंकित करने वालों के ख़िलाफ़ हैं. इन अपराधियों के ख़िलाफ़ पूरी कठोरता के साथ क़ानून बनाया जाना चाहिए।

यह भी पढ़ें : ये मीडिया पेडलर

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए एडीजी रेणुका मिश्रा ने उपस्थित महिलाओं को संबोधित करते हुए कहा कि मिशन शक्ति का उद्देश्य है। समाज को जागरूक करना यदि महिलाओं के साथ कोई अन्याय होता है तो उन्हें बेहिचक थाने जाना चाहिए जहां उनकी हर संभव मदद की जाएगी। समाज में बदलाव के लिए महिलाओं को जागरूक होना पड़ेगा और बालक बालिका में लैंगिक भेद को समाप्त करना पड़ेगा। महिलाओं की झिझक दूर करने के लिए जल्द ही महिला हेल्प डेस्क का उद्घाटन किया जाएगा। जहां पर महिलाओं को उचित सुविधा मिले यह सुनिश्चित किया जाएगा।

यह भी पढ़ें : कोरोना योद्धा पार्षद वीरू की शहादत पर पचास लाख का मुआवजा ही सच्ची श्रदांजलि होगी

यह भी पढ़ें : मोदी को सेक्स सिम्बल मानने वाले गुप्ता जी गलतबयानी कर रहे हैं

मिशन शक्ति से महिलाएं ताकतवर होंगी। इसके लिए आवश्यक है कि नारी को एक दूसरे का सहारा बनना पड़ेगा। उन्होंने अमरेन दक्ष पीठ महिला स्वयं सहायता समूह की तारीफ करते हुए कहा कि इस संस्था ने बहुत ही कम समय में महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में काफी कार्य किए हैं जो कि सराहनीय है।

यह भी पढ़ें : फिक्की फ्लो ने आयोजित किया कार्यक्रम “ए फेस टू फेस विद डॉ. किरण बेदी”

उन्होंने कहा कि महिलाओं को आत्मनिर्भर बनने के लिए हुनरमंद होना आवश्यक है और हुनर को सिखाने के लिए यह संस्था काफी अच्छा कार्य कर रही है हुनरमंद महिला को आत्मनिर्भर बनने से कोई नहीं रोक सकता। महिलाओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए सरकार ने पिंक मोबाइल पिंक बूथ लखनऊ में शुरू किए हैं जोकि 24 घंटे महिलाओं को कानूनी सुविधा और सुरक्षा देने में सहयोग करेंगे।

यह भी पढ़ें : प्रसाद का शाब्दिक अर्थ हुआ परिभाषित

इस अवसर पर बीकेटी क्षेत्राधिकारी हृदेश कटारिया थाना अध्यक्ष योगेंद्र सिंह व हरिदास चौरसिया तथा एमरन दक्ष पीठ टीम के सदस्य
वंदना अग्रवाल, गायत्री सिंह, एवं विनीता वर्मा प्रधान नागवामऊ,आदि उपस्थित थे ।

यह भी पढ़ें : बात चाहे रसखान की हो या कामरान की कृष्ण को कृष्ण रहने दिया जाए

यह भी पढ़ें : जो पुलिस की ख़बर करता है, अब वहीं पुलिस से डरता है

नारी स्वावलंबन सर्टिफिकेट से 1-मीना, 2-प्रतिभा ,3- मोनिका, 4-पार्वती, 5-रिंकी, 6-सुनीता यादव, 7-किरण यादव, 8-सीमा, 9-पूजा भारती को सम्मानित किया गया।

Show More

Related Articles