राजनीति की नयी बयार

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव की 30 नवम्बर 2019 को फतेहपुर के चिल्ली गांव में दो पूर्व विधायकों की मूर्ति के अनावरण एवं तिलकोत्सव के कार्यक्रम में जाते वक्त जो जनाक्रोश सत्तारूढ़ दल की सरकार के प्रति देखने को मिला उससे परिवर्तन की नई बयार का संकेत है। श्री यादव का जगह-जगह लखनऊ से फतेहपुर तक के कार्यक्रम में जाने पर भव्य स्वागत हुआ। जनता की भारी भीड़ उनके स्वागत में नज़र आई।

लखनऊ से रवानगी के समय ही जिला लखनऊ समाजवादी पार्टी के नए अध्यक्ष श्री जयसिंह जयंत ने जोरदार नारेबाजी के साथ स्वागत किया तो उन्नाव में श्री धर्मेन्द्र सिंह, स्वागत के लिए खड़े मिले। प्रदेश अध्यक्ष श्री नरेश उत्तम पटेल, इरफान सोलंकी और अमिताभ बाजपेयी कानपुर गंगा पुल पर सैकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ मौजूद थे। कानपुर पार करते हुए एक दर्जन स्थानों पर नौजवानों, श्रमिकों एवं दूकानदारों ने श्री अखिलेश यादव का स्वागत किया।

नौबस्ता (कानपुर) से जहानाबाद जनपद फतेहपुर की ओर रास्ते में लगातार श्री अखिलेश यादव का स्वागत होता रहा। बिठूर क्षेत्र में रमईपुर में पूर्व विधायक श्री मुनीन्द्र शुक्ला ने और मझावन में अल्कू गुप्ता तथा अनुभव शुक्ला ने उनका स्वागत किया।

डाॅ0 अजीत सिंह डायरेक्टर विमला नर्सिंग ऐंड फार्मेसी कालेज और हरदौली रमईपुर की छात्राओं ने भी गरिमा पूर्ण तरीके से श्री अखिलेश यादव का स्वागत किया। यहां सांढ गांव में सर्वश्री अवधेश अवस्थी, तेजू यादव और गजेन्द्र तिवारी स्वागत में खड़े थे। इसी गाँव में समाजवादी सरकार में 1.5 करोड़ से पावर प्लांट लगा था।

गांव गोपालपुर में तो दूसरा ही दृश्य था। एक महिला बकरी के एक बच्चे को लिए स्वागत में खड़ी थी। कई महिलाएं छतों पर खड़ी थी। बुजुर्ग महिलाएं अखिलेश जी को आशीर्वाद दे रही थी। धर्मपुर बम्बा ककवन से फतेहपुर तक सड़क और रमईपुर से जहानाबाद की सड़क डबल लेन समाजवादी सरकार के समय ही बनी थी। बिरहर चैराहे पर भी श्री यादव का स्वागत हुआ। इस क्षेत्र का डार्क जोन समाजवादी सरकार में ही खत्म हुआ। तभी फसलों में हरियाली आ सकी। किसान खुश हुआ। अब डीप बोरिंग होने लगी है। रमईपुर में एक बुजुर्ग महिला ने अखिलेश जी को आशीर्वाद देते हुए कहा कि जल्दी फिर मुख्यमंत्री बनो, विजयी हो।

श्री अखिलेश यादव ने यहां स्मरण दिलाया कि सड़क से ग्रामीण अर्थव्यवस्था में गुणात्मक अंतर आता है। सड़क बनने से जीवन की रफ्तार तेज हो जाती है। जहानाबाद सीमा पर श्रीमती केतकी सिंह, बच्चा सिंह, सुरेन्द्र सिंह, बीरेन्द्र यादव आदि ने भी स्वागत किया। जहानाबाद तिराहे पर दयालु गुप्ता तथा सैकड़ों छात्रों की भीड़ स्वागत में जमा थी। पूर्व सांसद डाॅ0 अशोक कुमार पटेल, कुश वर्मा, मदन गोपाल वर्मा, पूर्व विधायक तथा भगवानदीन स्मारक इंटर कालेज की छात्राओं ने उनका भव्य स्वागत किया।

ग्राम चिल्ली थाना जहानाबाद निवासी श्री इंद्रजीत कोरी, पूर्व विधायक के माता पिता भी विधायक रहे है। स्व0 बद्री प्रसाद एवं स्व0 सुखरानी देवी की मूर्तियों का श्री अखिलेश यादव ने अनावरण किया। इसी मौके पर इं0 अनाबिल सिंह पौत्र का तिलक समारोह भी हुआ। डाॅ0 अशोक पटेल तथा वीर अभिमन्यु सिंह पूर्व विधायक ने श्री यादव का स्वागत किया।

श्री अखिलेश यादव के आने की सूचना पर ही आसपास के गांवों तक से बड़ी संख्या में लोग आ जुटे थे। यहां बिना पूर्व कार्यक्रम के भी बड़ी सभा हो गई। इसका संचालन डाॅ0 मृदुल दांतरे ने किया। सभा को सम्बोधित करते हुए श्री अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश में नाम और नम्बर बदलने वाली सरकार सत्तारूढ़ है। इस सरकार के कार्यकाल में किसान, नौजवान, व्यापारी, शिक्षक सभी परेषान हैं। जीडीपी जीरों है, रोजगार भी जीरो है। विकास के सभी दावे झूठे हैं। दुनिया में इतनी बेकारी कहीं नहीं है। किसानों का धान नहीं खरीदा गया है। समाजवादी एम्बूलेंस से समाजवादी नाम हटा दिया गया। समाजवादी पेंशन से समाजवादी नाम हटा दिया गया। यूपी डायल 100 नम्बर को 112 में तब्दील कर दिया गया। जो काम समाजवादी सरकार में हुए उन्हीं को अपना बताया जा रहा है। उन्होंने कहा लैपटाॅप बनाम शौचालय की तुलना होनी चाहिए।

श्री यादव ने पूछा कि अभी तक के बजटों का क्या हुआ? आगे भी जनता को कुछ मिलने वाला नहीं है। गाय मां का भी ये अपमान कर रहे हैं। बड़े शहरों में गैस पाइप लाइन की सप्लाई शुरू होने से फालतू सिलेंडर गांव में बांट दिए फिर पुराने सिलेण्डर के दाम बढ़ा दिए, गरीब चूल्हों का क्या करे? उन्होंने उज्ज्वला योजना पर निशाना साधते हुए कहा कि मक्के व ज्वार की रोटी गैस चूल्हे पर नहीं पकती है। उन्होंने कहा नोटबंदी का भ्रष्टाचार से सम्बंध है। इससे व्यापार चैपट हुआ है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार बाहर से तेल का आयात कर रही है जबकि यहां सरसों की फसल होती है। भाजपा सरकार धोखा देने वाली सरकार है।

श्री यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी का मानना है कि बिना किसान की उन्नति के राष्ट्र की तरक्की नहीं हो सकती है। आज भाजपा राज में देश की पूंजी बाहर जा रही है। यह सरकार किसानों गरीबों की नहीं, बड़े उद्योगपतियों की है। भाजपा से देश को आजादी चाहिए। सभी को भाजपा को हटाने के लिए लड़ाई लड़नी होगी। सन् 2022 में समाजवादी पार्टी की सरकार बनेगी। हमें जनता पर भरोसा है।

Show More

Related Articles