100 सिगरेट से ज्‍यादा खतरनाक होता है एक कॉइल

सर्दियां आते ही मच्‍छरों का आतंक भी बढ़ जाता है। मच्‍छरों के इस आतंक से बचने के ल‍िए कई मच्‍छर मारने वाले कॉइल का इस्‍तेमाल करते हैं। लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी क‍ि मच्‍छर मारने वाले ये कॉइल आपकी सेहत के ल‍िए कोई कम खतरनाक नहीं हैं। इससे न‍िकलने वाला धुंआ आपके शरीर में कई तरह की बीमार‍ियां पैदा कर सकता हैं। एक र‍िसर्च के अनुसार कॉइल में वो कैमिकल इस्तेमाल किए जाते हैं जो कि बग स्प्रे में भी इस्तेमाल होते हैं। जानकारों के अनुसार मच्छर मारने वाली कॉइल इस्तेमाल करने के बजाय मच्छर मारने के लिए दूसरे साधन इस्तेमाल करने चाहिए जो आपके लिए शरीर के लिए खतरनाक ना हो।

Related image

100 सिगरेट से भी खतरनाक होता है एक कॉइल

एक रिसर्च में पता चला है कि एक कॉइल 100 सिगरेट के बराबर खतरनाक है और इसमे से करीब पीएम 2.5 धुआं निकलता है जो कि बहुत ज्यादा है। इससे भले ही तंबाकू का धुआं नहीं निकलता हो, लेकिन इसमें कई ऐसे तत्व होते हैं जो शरी र के लिए नुकसान दायक है। मच्छर मारने वाली कॉइल में से बेंजो पायरेंस, बेंजो फ्लूओरोथेन जैसे तत्व निकलते हैं। वहीं इसके साथ ही मच्छर मारने वाली ये कॉइन आपके शरीर को और भी नुकसान पहुंचाती है।

Image result for अस्‍थमा होने का रहता है डर

अस्‍थमा होने का रहता है डर

कई रिसर्च में सामने आया है क‍ि लगातर कॉइल के धुएं में रहने से सांस लेने में द‍िक्‍कत होना शुरु हो जाती है। इसके ज्‍यादा संपर्क से फेफड़ों पर भी असर पड़ता है। डॉक्‍टर्स के अनुसार अगर कोई ज्‍यादा समय कॉइल की धुआं में सांस लेताहै तो उसे अस्‍थमा होने का डर बढ़ जाता है। साथ ही यह बच्‍चों में लगातार होने वाले घबराहट का कारण भी बन सकती है।

Image result for स्किन और आंखों पर असर

स्किन और आंखों पर असर

कॉइल से न‍िकलने वाले धुंआ से न सिर्फ सांस लेने की द‍िक्‍कत होती है बल्कि इससे स्किन और आंखों पर भी असर पड़ता है। इससे आंखों में जलन होना आदि समस्‍याएं शुरु हो जाती है।

Show More

Related Articles