प्रयागराज सिविल लाइन्स बस स्टेशन पर एक महीने से बंद टिकिट बुकिंग काउंटर

यात्री लगा रहे रोडवेज को चूना

प्रयागराज। प्रयागराज रोडवेज में टिकिट बुकिंग के नाम आये दिन नए नए तरीकों से रोडवेज को चूना लगाया जा रहा है, जिसका साथ रोडवेज की ढीली व्यवस्था निभा रही है। प्रयागराज सिविल लाइन्स बस स्टेशन पर लगभग एक महीने से ज्यादा हो गया है वातानुकूलित बुकिंग काउंटर बंद पड़ा है। परिचालकों को यात्री बैठाने में और डि एस ए न मिलने की बजह से आये दिन तरह तरह की यात्रियों से नोक झोंक होती रहती है।

वातानुकूलित काउंटर बन्द होने की बजह से यात्री अपने फ़ोन या सायबर कैफे से टिकिट बुक कर लेते है जिसका कन्फर्मेशन मैसेज को फ़ोन में सुरक्षित कर लेते या टिकिट प्रिन्ट करा के रख लेते है उसके बाद सर्विस शुरू होने से 10 से 15 मिनट पहले टिकिट कैंसिल कर देते है। और बस में टिकिट का प्रिंट आउट या मोबाइल फ़ोन पर मैसेज परिचालक को दिखा देते है।

बुकिंग काउंटर बन्द होने की बजह से परिचालक को यात्री चार्ट मिल नही पाता और यात्री के मैसेज को ही देख के यात्रा कराना पड़ता है। 30/10/2019 को जब समय 03:00 पी एम पर प्रयागराज से लखनऊ के लिए बस रवाना होने वाली थी,परिचालक द्वारा बुकिंग काउंटर पर तैनात विशाल से दूरभाष पर बात की गई और यात्री चार्ट को व्हाट्सएप्प पर भेज देने के लिए आग्रह किया।

विशाल द्वारा यात्री चार्ट परिचालक के मोबाइल फ़ोन पर भेजा। तब पता चला कि 5 नंबर सीट पर पहले से बुक किये संकल्प चंद्र द्वारा टिकिट कन्फर्म का मैसेज दिखाया गया परंतु टिकिट को समय से 10 मिनट पहले कैंसिल कर दिया गया था, उसके बाद तेजतर्रार परिचालक द्वारा यात्री के सभी दाबे अस्वीकार करते हुए यात्री का टिकिट बना पैसे राजश्व में जमा किये। अगर परिचालक द्वारा यात्री चार्ट व्हाट्सप्प पर न मंगाया गया होता तो उक्त यात्री प्रयागराज से लखनऊ तक फर्जी टिकिट पर यात्रा करता।

Show More

Related Articles