एमरन फाउंडेशन फिल्म मेकिंग से जुड़े छात्रों को करेगा प्रशिक्षित


लखनऊ:देश में प्रतिभाओं की कमी नहीं है इनको संवारने और निखारने का बीड़ा एमरन फाउंडेशन और लखनऊ फिल्म फोरम संस्था ने उठाया है। एमरन फाउंडेशन का सम्मान समारोह ‘स्टेप इन स्टोन’ वेबीनार के माध्यम से संपन्न हुआ एमरन फाउंडेशन, फिक्की फ्लो लखनऊ के सहयोगी प्रयास के साथ मीडिया और मनोरंजन उद्योग में फिल्म मेकिंग के विभिन्न आयामों में से मुख्य रूप से चार पाठ्यक्रम का चयन किया गया जोकि विजुअल इफैक्ट्स एनिमेशन फिल्म मेकिंग और स्क्रिप्ट राइटिंग है। इस पाठ्यक्रम में 200 छात्रों ने दाखिला लिया और 83 छात्रों ने इस पाठ्यक्रम को पूरा किया। जिसके फलस्वरूप इन सभी छात्रों को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया, इसके साथ ही कोरोना योद्धा के रूप में प्रिंट, रेडियो और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के 25 कर्मियों को सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम की मुख्य अतिथि प्रयागराज से सांसद प्रोफेसर रीता बहुगुणा जोशी ने इस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि एमरन फाउंडेशन का प्रदेश की प्रतिभाओं को निखारने में बड़ा योगदान है, लखनऊ फिल्म फोरम के माध्यम से यह संस्था निरंतर प्रदेश के युवाओं को फिल्म निर्माण के क्षेत्र में जाने के लिए प्रेरित करती है और उन्हें प्रशिक्षित करती है उन्होंने कहा कि शीघ्र ही प्रदेश में फिल्म सिटी का निर्माण हो जाएगा जिससे इन सभी प्रतिभाओं को अपना हुनर दिखाने का मौका यही मिल जाएगा। प्रदेश में फिल्म सिटी के बन जाने से तमाम तरीके से रोजगार के अवसर पैदा होंगे और फिल्म क्षेत्र में जाने वालों का संघर्ष भी कम होगा।

विशेष अतिथि के रुप में वेबिनार को संबोधित करते हुए सागर फाउंडेशन के निदेशक और प्रसिद्ध निर्माता रामानंद सागर के पौत्र शिव सागर ने कहा कि एमरन फाउंडेशन के साथ जुड़कर उन्हें बड़ी प्रसन्नता हुई है और वह इस बात को लेकर भी बहुत उत्साहित है कि इतने कम समय में इस फाउंडेशन ने 83 छात्रों को फिल्म मेकिंग के क्षेत्र में प्रशिक्षित किया है। उन्होंने कहा कि सागर फाउंडेशन नई प्रतिभाओं को निखारने का काम करता आया है और उत्तर प्रदेश में एमरन फाउंडेशन के साथ मिलकर यह कार्य करने में उन्हें बहुत खुशी होगी उन्होंने बताया कि यह बहुत ही सराहनीय प्रयास है कि लोगों को मुंबई आकर संघर्ष करने के बजाए लखनऊ में ही एक ऐसा प्लेटफार्म मिलेगा जहां उसे सीखने और प्रदर्शित करने का मौका मिलेगा।
एमरन फाउंडेशन की निदेशक रेणुका टंडन ने इस अवसर पर बोलते हुए कहा कि हमने यह मंच फिल्म उद्योग से जुड़े लोगों की दुर्दशा को देखते हुए बनाया है इसका मुख्य उद्देश्य लखनऊ और आसपास के क्षेत्रों की प्रतिभाओं को संग्रहित कर एक प्रतिभा बैंक बनाना है।
और इस फाउंडेशन के माध्यम से मनोरंजन उद्योग और एम एंड ई क्षेत्र में एक विश्वस्तरीय शिक्षा की मांग को पैदा करना और उसे पूरा करना है इसमें हमारा सहयोग सागर वर्ल्ड द इकनोमिक जोकि रामायण जैसे विश्व प्रसिद्ध धारावाहिक को बनाने के लिए प्रसिद्ध है, कर रहा है। उनके सहयोग से लखनऊ को एक विश्वस्तरीय एम एंड ई उद्योग का केंद्र बनाने में मदद मिलेगी।
कार्यक्रम को भातखंडे संगीत विश्वविद्यालय की कुलपति श्रुति शिदोलकर काटकर, फिक्की फ्लो लखनऊ चैप्टर के अध्यक्ष पूजा गर्ग, अवध गर्ल्स डिग्री कॉलेज की प्राचार्य डॉ अनुपमा चतुर्वेदी, देवी भंडारी लेखक और फिल्म निर्माता ने भी संबोधित किया और अपने विचार व्यक्त किए।
इनके अलावा डॉ निधि टंडन, गौरव द्विवेदी, विद्या भार्गव, गायत्री सिंह, प्रशांत सिंह, विवेक यादव, कविता सिंह, उषा विश्वकर्मा,सीमू घई तथा अन्य सैकड़ों लोगों ने इस कार्यक्रम में हिस्सा लिया।

Show More

Related Articles