देश की तीनों प्रमुख संगठन पत्रकारों की उठाएगी आवाज़, बीएमएस ने दिया समर्थन

पत्रकारों की

लखनऊ : पत्रकारों की समस्यायों के निस्तारण के लिए एक साथ भारत के प्रमुख ट्रेड यूनियन IFWJ, NUJ(I), WJI, UPJA, DJA के देश भर के सैकड़ों पत्रकार साथी एक साथ शामिल हुए। राष्ट्रीय वेबीनार में उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, दिल्ली, राजस्थान सहित अन्य प्रांतों से पत्रकार जुड़कर पत्रकारिता जगत में हो रही समस्याओं के निराकरण के लिए चर्चा किए।

कार्यक्रम की शुरूआत में दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में पत्रकार तरुण सिसोदिया की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत पर मौन रहकर श्रंद्धाजलि अर्पित किया गया। जिसके उपरांत NUJ (i) के राष्ट्रीय महासचिव सुरेश शर्मा ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि सभी संगठनों को साथ आना होगा जिसकी पहल वर्किंग जर्नलिस्ट ऑफ इंडिया के राष्ट्रीय महासचिव नरेंद्र भंडारी जी ने कर दिखाया है, नरेंद्र भंडारी जी बार बार मुद्दा उठाते हैं कि पत्रकारों की नौकरियां में छठनी किया जा रहा है, इसको रोकना पड़ेगा। आजिवकिता से संपन्न होगा पत्रकार तभी आने वाले समय में पत्रकारों का कल्याण होगा।

यह भी पढ़ें : कानपुर के विकास से दिखेगा मैनचेस्टर वाला CAWNPORE

वेबीनार को संबोधित करते हुए वर्किंग जर्नलिस्ट ऑफ इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनूप चौधरी जी ने कहा कि जब से wji संगठन का लक्ष्य गांव से जुड़ा हुआ पत्रकार साथी तक सभी सुविधाए मिले। सामाजिक, आर्थिक, सुरक्षा, की जिम्मेदारी हम सभी संगठनों की है ऐसे बाते वेविनार को संबोधित करते हुए वरिष्ठ पत्रकार अनूप चौधरी ने किया।

सभा की अध्यक्षता अंतरराष्टरीय पत्रकार केएन गुप्ता जी ने किया, अपने सुझाव से सभी साथियों का मार्गदर्शन करते हुए कहा कि सभी संगठनों को एक होना ही नरेंद्र भंडारी जी की सफलता एवम् पत्रकारों का कल्याण होगा। नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स के राष्ट्रीय अध्यक्ष मनोज मिश्रा जी ने कोरोना काल में शहीद हुए पत्रकारों को कोरोना योद्या के रूप में शामिल करना होगा, मीडिया आयोग बनना अत्यंत आवश्यक है क्योंकि प्रिंट मीडिया के सिवाय अन्य पत्रकार साथियों को लाभ नहीं मिल रहा है। बेरोजगारी की हालात में पत्रकारों के समस्याओं पर ध्यान केंद्रित करना होगा।

यह भी पढ़ें : एमरन फाउंडेशन फिल्म मेकिंग से जुड़े छात्रों को करेगा प्रशिक्षित

सभा के संचालन वर्किंग जर्नलिस्ट ऑफ इंडिया के प्रदेश अध्यक्ष पवन श्रीवास्तव ने किया और पत्रकारों कि समस्याओं पर सभी साथियों के विचार प्राप्त किया। प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया के सदस्य रजा रिज़वी ने कहा कि पत्रकारों कि समस्यायों का निस्तारण ही हमारा कर्तव्य है। इंडियन फेडरेशन ऑफ वर्किंग जर्नलिस्ट के राष्ट्रीय महासचिव परमानंद पांडेय जी ने संबोधित करते हुए कहा कि हम सभी को मिलकर एक फंड बनाना चाहिए जिसमें बेरोजगार हुए पत्रकार साथियों को तत्काल रूप में मदद कर सके, वर्किंग जर्नलिस्ट एक्ट में संशोधन करना अत्यंत महत्वपूर्ण विषय है क्युकी आज के समय में न ही इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की जगह है न ही डिजिटल मीडिया, ऐसा होने पर पत्रकारों की परिभाषा बदल जाएगा।

मीडिया आयोग की आवश्यकता अत्यंत आवश्यक है। वर्चुअल सभा को संबोधित करते हुए भारतीय मजदूर संघ बीएमएस के क्षेत्रीय संगठन मंत्री पवन कुमार जी ने सभी पत्रकार संगठनों से आवाहन किया कि हम सभी को मिलकर पत्रकारों की लड़ाई लड़नी होगी। पवन कुमार जी ने कहा कि कोरोना काल में पत्रकारों पर आर्थिक संकट के बादल छाए हुए है।

यह भी पढ़ें : “सेवा समर्पण दिवस” के रूप मे मनाया राजनाथ सिंह का 68वां जन्मदिन

देश में श्रम क़ानून का तात्यपर्य बदल सा गया है, बहुत सारे मीडिया संथाओं ने पत्रकारों का वेतन काट दिया है परंतु कोई पत्रकार खुलकर कह नही रहा। पहली बार भारतीय मजदूर संघ बीएमएस ने गृहमंत्री से मिलकर मजदूरों को मिलने वाली राशि को बढ़वाया।सभी पत्रकारों को बेज बोर्ड पढ़ना चाहिए और अपनी शिकायत दर्ज कराना चाहिए लेकिन अब समय आ गया है जब पत्रकारों के भविष्य सुधरने वाला है। पवन कुमार जी ने कहा कि सिक्यरिटी हर सभी को मिलना चाहिए चाहे वो ग्रामीण क्षेत्र का युवक हो या छोटा दुकानदार। वहीं उत्तर प्रदेश, गुजरात, सरकार को आड़े हाथों लेते हुए क्षेत्रीय संगठन मंत्री ने कहा कि श्रम क़ानून में छेड़छाड़ किया है जिसको लागू नही करने दिया जाएगा।

शीघ्र ही भारतीय मजदूर संघ बीएमएस, सरकार जग़ाओ सत्ता चलाएगी जिसमे देश भर के लोग शामिल होंगे। 26 जुलाई से चलने वाले सरकार जगाओ सत्ता द्वारा मज़दूरों की लड़ाई लड़ी जाएगी। जिसमें आशा, आंगनवाड़ी, नर्सेस, ड्राइवर, ट्रांसपोर्ट सहित अन्य संगठन शामिल रहेंगी।

अजय वर्मा जी

यह भी पढ़ें : सम्पूर्ण प्रदेश में संचालित विशेष स्वच्छता अभियान

वर्चुअल सभा को संबोधित करने वालो में IFWJ के राष्ट्रीय अध्यक्ष केवी मल्लिकार्जुन, राष्ट्रीय महासचिव परमानंद पांडेय, NUJ के राष्ट्रीय अध्यक्ष मनोज कुमार मिश्रा जी, राष्ट्रीय महासचिव सुरेश शर्मा जी, वर्किंग जर्नलिस्ट ऑफ इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनूप चौधरी जी, राष्ट्रीय महासचिव नरेंद्र भंडारी जी, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष संजय उपाध्याय जी, राज्य मुख्यालय मान्यता समिति के अध्यक्ष हेमंत तिवारी जी, राष्ट्रीय महासचिव सिद्धार्थ कलहंस, अजय कुमार जी, निर्भय सक्सेना, उपजा के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष जीसी श्रीवास्तव जी, रमेश चंद जैन, अशोक मालिक जी, जितेंद्र अवस्थी, रोहित कश्यप, अजय वर्मा जी, सहित सैकड़ों पत्रकार शामिल रहे।

Show More

Related Articles